बिहार: कोरोना की वजह से दूल्हे की दूसरे दिन ही मौत,शादी समारोह में शामिल 90 से अधिक लोग हुए कोविड पोसिटिव

0
194
- Advertisement -

अभी तो भीलवाड़ा राजस्थान से आई खबर कि एक शादी समारोह में कोरोना से बचने के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाते हुए करीब 250 से अधिक लोग शामिल हुए थे जिसमें तकरीबन 20 लोगों के कोविड19 पोसिटिव होने की खबर आई और लड़के के दादा की मौत की खबर भी आई। अभी तो ये खबर पुरानी भी नहीं हुई थी कि बिहार की राजधानी पटना के एक गांव की शादी समारोह में शामिल हुए 90 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

उससे भी दुःखद बात ये है कि शादी करने के दो दिन बाद ही दूल्हे की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि दूल्हा गुरुग्राम में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। हालांकि कोविड-19 का परीक्षण किए बिना ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया जबकि उसमें कोविड19 के लक्षण दिखाई दे रहा था।

- Advertisement -

जब पटना प्रशासन को पालीगंज गांव में दूल्हे की मौत के बारे में खबर मिली उसके बाद प्रशासन के कान खड़े हो गए और फिर शादी में शामिल लड़के के रिश्तेदारों का परीक्षण किया गया। मालूम हो कि यह गांव पटना से 50 किलोमीटर दूर है 15 जून को हुए शादी समारोह में शामिल होने वाले लोगों में 15 लोग कोरोना पोसिटिव पाये गए हैं। उसके बाद प्रशासन ने जब ट्रेसिंग शुरू की तब तक करीब 80 लोगों इसकी चपेट में आ गए थे। मालूम हो कि दूल्हे का परीक्षण नहीं किया ज सका क्योंकि दूल्हे के परिजन ने प्रशासन को सूचना देने से पहले ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया था।

बताया जा रहा है कि दूल्हा 12 मई को शादी के लिए अपने गांव दीहपाली पहुंचा था। इस दौरान उसके अंदर कोविड-19 के लक्षण दिख रहा था लेकिन उसके परिवार ने शादी को न टालने का फैसला लिया। शादी के दो दिन बाद उसकी हालत बिगड़ गई और पटना एम्स ले जाते समय उसकी मौत हो गई। प्रशासन का कहना है कि कोविड-19 के लक्षण दिखने के बावजूद शादी करना परिवार द्वारा दिशानिर्देशों का बड़े पैमाने पर किया गया उल्लंघन है।

कोशी की आस आप लोगों से निवेदन करता है कि इस स्थिति को पैनिक ना बनाएं संयम से काम लें तथा समय-समय पर सरकार द्वारा दी गई गाइडलाइन का शब्दशः पालन करें। अतिआवश्यक होने पर ही बाहर निकलें, मास्क का हमेशा उपयोग करें व सोशल डिस्टनसिंग का पालन करें।

घर पर रहें, सुरक्षित रहें
Stay Home, Stay Safe

news source: db

- Advertisement -