गांधी जी की तरह जीवन का एक मूल आधार खुद को स्वाबलंबन तथा आत्मनिर्भर बनाना : राजू

0
55
- Advertisement -

खगड़िया : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के स्थानीय कार्यालय में अपनी सादगी और अहिंसा से भारत ही नहीं बल्कि दुनिया में आज भी जिनके विचार सर्वमान्य है, ऐसे युग पुरुष महात्मा गांधी एवं जय जवान, जय किसान, के उद्घोष से भारत का स्वर्णिम इतिहास लिखने वाले, यस्वशी प्रधानमंत्री, सादगी के वाहक लाल बहादुर शास्त्री जैसे महापुरुषों की जयंती पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नगर मंत्री सन्नी शर्मा ने स्थानीय कार्यालय में पुष्पांजलि अर्पित किया।

वही कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नगर मंत्री सन्नी शर्मा ने कहा कि 2 अक्टूबर का दिन, हमारे देश के स्वर्णिम दिनों में गिना जा सकता है क्योंकि 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री का जन्म हुआ था। दोनों ही महापुरुष का देश के निर्माण में अहम योगदान है। गांधीजी सत्य और अहिंसा के पुजारी थे। वह सत्य बोलने के चलते अपने वकालत के पेशे को ठुकरा दिए और सत्य और अहिंसा के विचारो पर चल कर देश को आजादी दिलाई।

- Advertisement -

उन्होंने कहा कि आज हमलोगो को भी प्रण करनी चाहिए कि महात्मा गांधी की तरह सत्य और अहिंसा पर चल कर देश को समाज को आगे बढ़ाना है और बुलंदियों के शिखर पर ले जाना है। गांधी जी ने चरखा को अपनाया यह भी हमारे जीवन का एक मूल आधार है कि खुद को स्वाबलंबन तथा आत्मनिर्भर बनाएं। आज हमारी सरकार इस ओर ध्यान दे रही है। हमें भी सरकार के कार्यों में सहयोग देकर इसे पूरे राष्ट्र तक फैलाना है और इस भारतवासियों को आत्मनिर्भर तथा स्वाबलंबन बनाना है जिससे कि हमारा देश उन्नति और तरक्की कर सके।

नगर सह मंत्री अमन पाठक ने कहा कि बापू ने अहिंसा के हथियार से देश दुनिया में कांति लाई वही पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने देश के ना केवल आर्थिक मंदी से निवरा बल्कि देश को युद्धों से उभरा। वही उपस्थित ,पूर्व प्रदेश मंत्री भरत सिंह जोशी एवं प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राजू पासवान ने कहा कि देश की दोनों महानायक हमसभी के लिए प्रेरणा के स्रोत है हम आज के दिन इन्हें नमन करते। मौके पर शुभम कुमार, अभिजीत निगम, नितीश पासवान , रोशन कुमार, कृष्णकांत पोद्दार, देव रवि शंकर उपस्थित थे।

अनीश कुमार
कोशी की आस@खगड़िया

- Advertisement -