जाप नेता ने जताई नाराजगी, समाजसेवियों द्वारा सीधे मदद पर जिला पदाधिकारी के रोक को लेकर

0
45
- Advertisement -

खगड़िया जिले में जन अधिकार पार्टी जिला कार्यालय कृष्णापुरी बलुआही में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए युवा शक्ति जिला अध्यक्ष चंदन सिंह ने कहा कि कोरोना संक्रमण से पूरे देश एक संकट से गुजर रहा है। आमलोगों को विभिन्न तरह की समस्या का सामना करना पड़ रहा है लेकिन सबसे बड़ी समस्या दैनिक मजदूरी कर अपने परिवार की जीविका चलाने वाले परिवारों की है, जिसके बीच जिला पदाधिकारी का तुगलकी फरमान मीडिया में पढ़ने को मिला कि आप कुछ नहीं बाँट सकते जो भी बाटना हो वह जिला प्रशासन को उपलब्ध करावें, जिला प्रशासन बाटेगी। उन्होंने कहा कि यह नहीं चलने वाला है सामाजिक कार्यकर्ता भगवान भरोसे जिला को नहीं छोड़ सकते हैं, जिला प्रशासन या जनप्रतिनिधि इस आपदा की घड़ी में क्या कर रही है?

खगरिया की जनता इसको देख रही, है जिला प्रशासन अपनी नाकामी छुपाने के लिए प्रत्येक दिन जिले के अपने एसी चेंबर में बैठकर नया नया फरमान लागू कर रहे हैं, जिला पदाधिकारी ओवर ब्रिज पर ड्रोन उड़ा रहे हैं, फोटो खींचा रहे हैं, अनुमंडल से प्रखंड के सभी पदाधिकारी कहीं एक जगह जाकर फोटो खींचा रहे हैं। पुलिस प्रशासन सड़क पर उतर गरीबी में लोगों से तसील रहे हैं। क्या इससे लोक डाउन का पालन हो रहा है? क्या जिला पदाधिकारी अपने अधिनस्थ अनुमंडल से प्रखंड के सभी पदाधिकारी को ग्रामीण क्षेत्र में जाकर भी ड्रोन उड़ना पड़ेगा और सभी पदाधिकारी को सख्त निर्देश देना पड़ेगा चेंबर से निकलिए और क्षेत्र जाइए ना कि सिर्फ फरमान जारी करने से कार्य चलेगा।

- Advertisement -

आगे कहा कि जब तक सामाजिक कार्यकर्ता सड़क पर उतर लोगों की मदद नहीं करेगा तब तक सेवा हो ही नहीं सकता है, जो जनप्रतिनिधि या सामाजिक कार्यकर्ता सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं करता है। उस पर आप कानूनी कार्रवाई करें ना कि आप सभी सामाजिक कार्यकर्ता को इस विपदा की घड़ी में अन्य सेवा से रोक सकते हैं। जिला प्रशासन को भय है कि जब सामाजिक कार्यकर्ता सड़क पर उतर सेवा करेगी तो सारा पोल जिला प्रशासन का खुल जाएगा जब हम लोग सामाजिक कार्यकर्ता हैं तो आपको क्यों दे कोई चीज वितरण करने के लिए सेनेटाइज कराने के लिए नीतीश जी जहां मुखिया जी को बोले हैं मुखिया जी को जिस वाड से वोट नहीं मिला है, मुखिया जी उस वार्ड में कुछ करने को तैयार नहीं है। इसकी जवाबदेही कौन लेगा? जिला पदाधिकारी लोक डाउन का मतलब नहीं है कि पुलिस निरंकुश हो जाए जो लोग सिलेंडर लेकर इस गरीबी में जा रहा है। उसके बाद पुलिस पकड़कर ₹1000 फाइन करती है। कहां का इंसाफ है? ग्रामीण क्षेत्र में लॉक डाउन है क्या? जिला प्रशासन मीडिया के माध्यम से खगरिया वासियों को बोले कि एक भी लोग भूखे नहीं सोएगा। गरीबी और बीमारी से खगरिया के एक भी लोग को में मरने नहीं देंगे तो एक भी सामाजिक कार्यकर्ता अपने घर से नहीं निकलेंगे और हंड्रेड परसेंट ब्लॉक डाउन का पालन करेंगे मौके पर युवा शक्ति के वरिष्ठ नेता नगर पार्षद रणवीर कुमार छात्र जिला अध्यक्ष रोशन कुमार जाप नेता गौतम कुमार उपस्थित थे।

अनिश चौरसिया

कोशी की आस@खगड़िया

- Advertisement -