कोटा सहित देश के अन्य राज्यों में फंसे छात्रों को वापस लाने, पटना विश्वविद्यालय के सामने जाप छात्र परिषद का प्रदर्शन

0
95
- Advertisement -

आज दिनांक 27 अप्रैल 2020 को जन अधिकार छात्र परिषद के द्वारा पटना विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर पटना विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष मनीष कुमार यादव के नेतृत्व में बिहार के छात्र जो कोटा सहित देश के अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं जिन्हें अन्य राज्यों में बहुत परेशानी हो रही है। उन्हें वापस बिहार लाने की मांग को लेकर मुख्य द्वार पर छात्रसंघ अध्यक्ष के साथ दर्जनों छात्र सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए अपनी मांगों को रख रहा था। जाप कार्यकर्ताओं के अनुसार इसी दरमियान बिहार सरकार की निकम्मी सरकार के नौकरशाहों के द्वारा जबरन उन तमाम छात्रों को उठाकर थाने ले कर चली गई।

उनका कहना था कि यह सरकार की अंग्रेजी हुकूमत है, सरकार की अंग्रेजी हुकूमत नहीं चलेगी, इसके खिलाफ जन अधिकार छात्र परिषद पूरे बिहार में चरणबद्ध आंदोलन करने का काम करेगी। यदि इन छात्रों को जो छात्रों की समस्या को लेकर छात्रों के हक और मांग को लेकर लगातार नीतीश कुमार की गूंगी बहरी सरकार के खिलाफ आवाज उठाती रही है और जब आज कोटा में फंसे छात्रों के सवाल को लेकर जब धरना प्रदर्शन किया जा रहा था तो यह निकम्मी सरकार उन छात्रों को उठाकर थाने भेज दी है।

- Advertisement -

इधर खगड़िया जन अधिकार छात्र परिषद जिला अध्यक्ष रोशन कुमार ने साफ शब्दों में कहा यदि यह सरकार जन अधिकार छात्र परिषद के मांगों को नहीं मानती है। यदि कोटा में फंसे बिहार के छात्रों को वापस बिहार नहीं बुलाया जाता है तो इस सरकार के खिलाफ इस lockdown में भी चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा।

अनिश चौरसिया
कोशी की आस @खगड़िया

- Advertisement -