मानव के कल्याण के लिए गांधी व शास्त्री देवदूत बनकर आये थे – शास्त्री

0
33
- Advertisement -

खगड़िया : सदर प्रखण्ड के रहीमपुर मध्य पंचायत अंतर्गत नन्हकू मंडल टोला में राष्टपिता महात्मा गाँधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। जयंती समारोह का उद्घाटन दलित युवा संग्राम परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने मोमबत्ती जलाकर किया। वहीं छात्र सूर्यवंश कुमार के द्वारा केक भी काटा गया। मौके पर गणमान्य लोगों तथा छात्र-छात्राऐं के द्वारा गांधी व शास्त्री के तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

इस अवसर पर आचार्य राकेश पासवान शास्त्री ने कहा कि कैसरे हिन्द राष्टपिता महात्मा गाँधी व लाल वहादुर शास्त्री भारत को ब्रिटिश हुकूमत फांस से मुक्त कराने के बाद भारतवासी के लिए समता, समानता, स्वच्छता, शैक्षणिकता, आत्मनिर्भरता, एकता, सत्य अहिंसा व प्रार्थना जैसे कई अहम व महत्वपूर्ण संदेश दिया। बापू व शास्त्री नव संस्कृति के संदेश वाहक थे। गांधी जी ने जात-धर्म के बंधनों को तोड़ कर मानवतावादी विचार ज्योतिपूंज थे।

- Advertisement -

वहीं लाल बहादुर शास्त्री जी संकटकाल में अदम्य साहस और धैर्यता का परिचय देते हुए देश को प्रगति पथ पर अग्रसर करने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने जय जवान जय किसान का नारा बुलंद करते हुए उन्नत कृषि के लिए बढ़वा दिया। शास्त्री जी की सादगी, देशभक्ति और ईमानदारी सदैव सलाम करने योग्य है। आज गांधी जी व शास्त्री जी के पद चिन्हों पर चल कर हीं उनके लिए सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं। उक्त बातें जमुई लोक सभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी विनोद पासवान ने कहा। उन्होंने कहा कि गांधी व शास्त्री स्वतन्त्रता संग्राम के महानायक और सतत संघर्ष के प्रतिक थे।

इस अवसर पर वार्ड सदस्या क्रांति देवी, वार्ड सदस्या कल्पना देवी, पंच प्रतिनिधि अजय पासवान, शिक्षक बशिष्ठ पोद्दार, शिक्षक रमेश कुमार, प्राइवेट शिक्षक देवेन्द्र कुमार, सुवोध पासवान, जेएनकेटी इंटर विद्यालय प्रबंध कार्यकारिणी कमिटी की सदस्या ईशा देवी, छात्र हरिवंश कुमार,छात्रा रीमा कुमारी, कुमारी कीर्ति, सूर्यवंश कुमार, छात्रा रोनिका कुमारी, आस्था कुमारी, श्वेता कुमारी, सृष्टि कुमारी, चिराग, अंकेश कुमार, रघुवंश कुमार यादव, रंजन कुमार साह, राहुल पोद्दार आदि दर्जनों गणमान्य व्यक्ति एवं छात्र-छात्राऐं उपस्थित थे।

अनीश कुमार
कोशी की आस@खगड़िया

- Advertisement -