वायरस के संक्रमण को कम करना है तो जुमेरात और शबे-बरात त्योहार घर पर मनायें : जिलाधिकारी

0
112
- Advertisement -

खगड़िया जिले के समाहरणालय के न्यू सभा कक्ष में जिला पदाधिकारी आलोक रंजन घोष की अध्यक्षता में पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिला पदाधिकारी श्री घोष ने कहा कि वायरस जैसे जानलेवा संक्रमण के प्रभाव को रोकने हेतु सरकार के द्वारा लगाये गए लॉकडाउन नियम कायम रहने की स्थिति में आगामी 09 अप्रैल जुमेरात और शबे-बरात त्योहार के अवसर पर झुण्ड बनाकर कब्रिस्तानों में फातेहा पढ़ने तथा मस्जिदों में पंजगाना के साथ-साथ जुम्मा की नवाज सामुहिक रूप से अदा नहीं की जाएगी। यदि नियम विरुद्ध कोई व्यक्ति देखे व पकड़े जाने पर सख्त कानुन कार्रवाई की जाएगी। साथ ही इस त्यौहार में सोशलडिस्टेंस का सख्ती से पालन कराने के मद्देनजर विभिन्न स्थानों पर कार्य में लगाये गये पदाधिकारियों, पुलिस बलों व कर्मचारियों के द्वारा लापरवाही बरते जाने पर नपेंगे।

बतौर जिला पदाधिकारी श्री घोष लॉकडाउन नियमों के पालन करने को लेकर अपने स्टैंड पर एक बार फिर खड़े उतरते दिखे। उन्होंने जहाँ शांति-सद्भावना के साथ शबे-बरात त्योहार मनाने की अपील की वहीं कोरोना संक्रमण के घातक प्रभाव को रोकने हेतु शबे-बरात के मौके पर लोगों को मस्जिद अथवा कब्रिस्तान नहीं जाने की हिदायत देते हुए अपने-अपने घर में ही इबादत करने और मरहूमीन के इसाले सवाब के लिए दुआ करने को कहा।श्री घोष ने कहा है कि कोरोना को हराना है तो जुमेरात को भी शबे-बरात त्योहार घर पर मनायें और अपने व अपने परिवार सहित समाज को स्वच्छ, स्वस्थ एवं सुरक्षित रखें।

- Advertisement -

बैठक में एसपी मीनू कुमारी, एडीएम, सदर अनुमंडल पदाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार, गोगरी अनुमंडल पदाधिकारी सुभाष चन्द्र मंडल, सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आलोक रंजन, गोगरी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पी के झा, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, खगड़िया नगर पार्षद रूस्तम अली, गोगरी मुखिया प्रतिनिधि मंजेश यादव, बौरना मुखिया प्रतिनिधि मोहम्मद नासिर इकबाल, माड़र मुखिया मोहम्मद मजहर अली, रामपुर मुखिया कृष्णानन्द यादव, झिकटिया मुखिया प्रतिनिधि सहित दर्जनों जनप्रतिनिधी व पदाधिकारी उपस्थित थे ।

अनिश चौरसिया
कोशी की आस@खगड़िया

- Advertisement -