आँधी व बारिश से परेशान किसानों ने क्षतिपूर्ति की मांग की

0
55
- Advertisement -

किशनगंज : टेढ़ागाछ प्रखंड क्षेत्र में विगत सोमवार को हुये आँधी व बारिश होने से लोग परेशान हैं। जहाँ एक तरफ किसान मजदूर कोरोना की छाया से अभी तक बाहर नहीं निकले थे, वहीं दूसरी तरफ आँधी व बारिश ने 6 महीने का कठिन परिश्रम से लगाए गेहूं एवं मक्का के फसल को नष्ट कर दिया है।

टेढ़ागाछ प्रखंड क्षेत्र के चिल्हनियाँ पंचायत के किसान मयानंद मंडल, खुशीलाल मंडल, दयानंद मंडल, सुबोध मंडल, राशिद आलम, सारद शर्मा, फिरोज आलम, झड़ी लाल साह, संम्पत ठाकुर, दयानंन्द ठाकुर, प्रेम लाल मंडल, बीरबल आलम, सोहन लाल सिंह, अकेश्वर यादव, सिकन्दर साह, विनय कुमार सिंह, अनिल सिंह, प्रदीप मांझी, अंनन्त लाल शर्मा, शंम्भू साह, हरि प्रसाद मंडल आदि ने कहा कि ऋण लेकर खेती गृहस्ती का काम किए थे, लेकिन आँधी व बारिश की वजह से फसल कटाई से पहले नष्ट हो गए। अब कहां से भरपाई होगा।

- Advertisement -

उनलोगों का कहना था कि इस वर्ष लगातार आँधी व बारिश हो रही है। हम तो पहले से ही कर्ज में डूबे हुए हैं, फिर फसल क्षति होने से हमारी कमर ही टूट गई है। स्थानीय प्रशासन को किसान हित के लिए आँधी व बारिश से क्षेत्र में हुए नुकसान का जायजा लेकर उचित मुआवजा दिलाने का प्रयास करना चाहिए, लेकिन किसी से कोई उम्मीद नहीं दिख रही है। क्षेत्र में कृषि विभाग के कोई कर्मचारी किसानों के खेतों में लगे फसलों का क्षति का जायजा लेने नहीं आ रहें हैं। जिसके वजह से पूर्व से भी कोई लाभ नहीं मिल रहा है।

इधर प्रखंड कृषि पदाधिकारी दिलीप कुमार ने बताया नमी वाले खेतों में बारिश का पानी व तेज हवा लगने से आंशिक रूप से फसल नुकसान होने की खबर है। फिरभी संबंधित किसान सलाहकार को फसलों का जायजा लेने का  निर्देश दिया गया है। अधिक नुकसान होने पर जिला को रिपोर्ट भेजी जाएगी।

अबू फ़रहान छोटू
कोशी की आस@किशनगंज

- Advertisement -