किशनगंज : व्यवसाइयों के द्वारा अवैध खनन पर प्रशासन खामोश।

0
73
- Advertisement -

अबू फरहान छोटू
कोसी की आस@किशनगंज।

जिले के टेढ़ागाछ प्रखंड क्षेत्र में इन दिनों जेसीबी से अवैध रूप से मिट्टी खनन ज़ोरो पर चल रहा है। इस अवैध खनन पर प्रशासन एवं खनन विभाग की मिलीभगत से इंकार नहीं किया जा सकता है। स्थानीय लोगों के अनुसार मिली भगत के चलते ग्रामीणों के शिकायत के वावजूद कोई अंकुश नहीं लग पा रहा हैं। ट्रैक्टर ट्रॉली और जेसीबी से अवैध मिट्टी खनन बदस्तूर जारी है। टेढ़ागाछ प्रखंड के डाकपोखर पंचायत स्थित रहमतपुर में स्टील ब्रिक्स ईट चिमनी संचालक द्वारा खुलेआम मिट्टी खनन कर चिमनी में जमा कराया जा रहा है।

- Advertisement -

पिछले कई दिनों से अवैध मिट्टी खनन का खेल जारी है। आठ से दस ट्रैक्टर व जेसीबी से मिट्टी काटी जा रही है। इतना बड़ा अवैध मिट्टी खनन होने के बाद भी खनन विभाग एव प्रशासन इसे अनदेखा कर रहा है। लोगों का कहना है कि अवैध मिट्टी खनन को लेकर प्रशासन गंभीर होने का सिर्फ दिखावा कर रहा है। हमेशा दावा किया जाता है कि अवैध खनन करने वाले पर करवाई की जाएगी, लेकिन करवाई शून्य होती है। अवैध खनन बिना जिला प्रशासन की स्वीकृति मिट्टी खनन करते हैं। सभी मानकों को ताक पर रख देते हैं। क्षमता से ज्यादा गहरे गड्ढे खोद देते हैं। यह गड्ढे तालाब के रूप में हो जाते हैं। इससे हमेशा हादसा होने की आशंका बनी रहती है। वहीं आसपास के किसानों के खेतों के अस्तित्व पर खतरा है।

अवैध खनन से पर्यावरण को भी काफी नुकसान हो रहा है। प्रशासन व संबंधित बिभाग के जिम्मेदारों के मजबूत संरक्षण के चलते कोई भी आवाज उठाने की जहमत नहीं उठाता है। जिससे यह मिट्टी खनन का खेल अनवरत जारी है। संबंधित बिभाग लगातार ईट भट्टों की जांच की बात करते हैं। जिस जगह मिट्टी खनन की जा रही हैं उक्त जमीन खेतीहर भूमि हैं।इतने बड़े पैमाने में हो रहे मिट्टी का खनन पर खनन विभाग व प्रसासन चुप्पी साधी हैं। जबकि क्षेत्र में हाल यह है कि यदि कोई किसान भी अपने घर पर भी अपनी ट्रैक्टर ट्राली में भर कर मिटटी, घर निर्माण के लिए ले जाए तो प्रशासन एवं खनन विभाग की पैनी नजर उसे तुरंत ढूंढ निकालती है। जिससे गरीब लोगों को अपने घरों में चिनाई करने के लिए भी मिटटी नहीं मिल पा रही है। अपने घर का भराव करना तो दूर की बात है। लेकिन इतने बड़े अवैध खनन को लेकर पूरी बिभाग खामोश होकर नजारा देखती रहती है।

- Advertisement -