चौसा:भारतीय संविधान के शिल्पकार अम्बेडकर के बताये मार्गों पर चलना हीं सच्ची श्रद्धांजलि

0
228
- Advertisement -

 

राहुल यादव
कोसी की आस@चौसा,मधेपुरा

- Advertisement -

भारत रत्न डॉ भीम राव अम्बेडकर विचार मंच चौसा में डॉ अम्बेडकर के 63वें महापरिनिर्वाण दिवस के मौके पर विचार मंच के पदधिकारियों एवं बुद्धिजीवियों द्वारा बाबा साहब के प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गयी। अम्बेडकर विचार मंच के अध्यक्ष सुबोध कुमार पासवान ने श्रद्धासुमंन अर्पित करते हुए कहा कि बाबा साहब अम्बेडकर सिर्फ एक शलाका पुरुष थे।

उन्होंने महिलाओं एवं अछूतों के अधिकार पर विशेष रूप से बल दिया। वे स्वतंत्र भारत के प्रथम विधि एवं न्याय मंत्री थे।अपने मंत्रित्वकाल में भी उन्होने समता,न्याय ,बंधुत्व को ध्यान में रखकर पुरे भारतवासी के लिए आदर्श प्रस्तुत किया। तो वहीं शांति राजदूत डॉ शशिधर मेहता ने कहा कि बाबा साहब विपुल प्रतिभा के धनी थे। वे आधुनिक भारत के निर्माता और पथद्रष्टा भी थे। उनकी कृति हमेशा याद रहेगी।

मंच के उपाध्यक्ष प्रो शिवकुमार यादव ने कहा कि आज हमारा समाज टूट रहा है,उन्हें डॉ अम्बेडकर के त्याग और बलिदान से सीख लेनी चाहिए। पूर्व मुखिया श्रवण कुमार पासवान एवं संयुक्त सचिव मनोज पासवान ने संयुक्त मंतव्य देते हुए कहा कि डॉ अम्बेडकर के आदर्शों को अपनाकर हीं चहुँमुखी विकास की परिकल्पना की जा सकती है।


मौके पर निरंजन कुमार नीरज,आरसी यादव,मो शाहनवाज,सुदामा पस्वं,भूषण पासवान, कार्यालय प्रभारी मृत्युंजय कुमार भगत,अमोद पासवान, धीरेन्द्र दर्वे,प्रफुल्ल कुमार,लोजपा के प्रखंड उपाध्यक्ष आशुतोष कुमार,केदार पासवान आदि ने भी बाबा साहब की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

- Advertisement -