कोरोना संकट के दौरान आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं संघ का बगैर सुरक्षा घर-घर जाकर काम करने से इनकार

0
250
- Advertisement -

राहुल यादव
कोशी की आस@मधेपुरा

आंगनबाड़ी सेविकाओं ने कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर घर-घर जाकर काम करनें से अपने जान खतरे के साथ संक्रमण से बीमारी फैलने की आशंका जताई है। साथ ही साथ उन्होंने यह भी बताया कि सरकार के द्वारा हम सेविकाओं दीदी को बगैर सुरक्षा उपकरणों के कार्य पर जाने को बोला जा रहा है जो खतरें से खाली नहीं है।

- Advertisement -

ऐसी स्थिति में पोषक क्षेत्र जाकर लाभुकों से आधार नम्बर, और खाता नबर हासिल करना मुश्किल है। इस मुद्दे को लेकर आगनबाड़ी सेविकाओं ने निर्णय लिया है कि जब तक कोरोना वायरस का संक्रमण और लॉक डाउन है, तब तक सरकार के निर्देशानुसार लॉक डाउन का पालन कर घर में रहूंगी। साथ ही आस- पड़ोस लोगों को जागरूकता करूँगी।

उक्त बातें आगनबाड़ी सेविकाओं संघ और सेविका सहायिका संघ के मधेपुरा और उदाकिशनगंज सदस्यों ने नाम न बताये जाने की शर्त पर कही। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी संक्रमण को देखतें जनहित के फायदा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा वर्तमान में 21दिन का लॉक डाउन है, जिसके दौरान घरों से बहार निकलनें पर रोक लगा दिया गया है।

इस बीच सुरक्षा उपायों का पालन करनें के लिए लोगों को सख्त निर्देश दिया जा रहा है। ऐसी विकट परिस्थिति में अपनें पोषक क्षेत्र में बिना उचित सुरक्षा उपकरण के जाकर काम करनें का दबाव बनाना बाल विकास परियोजना पदाधिकारी द्वारा कहीं से सही नहीं है।

- Advertisement -