लक्ष्मीपुर के व्यक्ति की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हुई मौत, एक मात्र पुत्र ने नहीं दे पाया मुखाग्नि,

0
219
- Advertisement -

मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र के लक्ष्मीपुर वार्ड 11 निवासी 50 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हो गया। मृतक के एक मात्र पुत्र राजा कुमार पासवान ने बताया कि 50 वर्ष के उम्र में भी अपने परिवार के भरण पोषण करने के लिए दिल्ली में राज मिस्त्री का काम करने लॉकडाउन से तीन चार माह पूर्व हीं गया था। जहां कुछ दिन पूर्व उसकी तबियत खराब हो गया।घर वाले को इसकी जानकारी दी गई लेकिन लॉकडाउन के वजह से उन्हें देखने कोई नहीं जा सका।

वहीं साथ रह लोगों ने उनको 3 अप्रैल को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया। जहां परिजनों के अनुसार मृतक को कोरोना का संक्रमित बताया गया।परिवार के सदस्य उनके बीमारी से चिंतित थे और यहीं से बार-बार उनके इलाज की स्थिति जान रहे थे। लेकिन 16 अप्रैल को भागलपुर जिला के नौगछिया निवासी मोहन कुमार के द्वारा परिजनों को बताया गया कि उनकी मृत्यु 15 अप्रैल को हीं सफदरजंग अस्पताल में हीं हो गया।

- Advertisement -

मृत्यु की खबर सुनते हीं परिजन में कोहराम मच गया। एक मात्र पुत्र अपने पिता को मुखाग्नि तक नहीं दे पाए। और ना।हीं वहां के अस्पताल एवं प्रशासन के द्वारा मोबाइल पर परिवार वाले को अंतिम दर्शन कराया गया। मृत्यु की खबर धीरे धीरे पुरे गाँव में आग की तरह फैल गया। जहां शुक्रवार को मृतक के दरवाजे पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

वहीं अनुमंडल पदाधिकारी एस जेड हसन ने बताया कि परिजन द्वारा मामले की जानकारी 17 अप्रैल शुक्रवार को मिली है। परिजन के द्वारा बताया गया की मौत 15 अप्रैल को हीं हुई है। इस मामले की जानकारी अभी तक दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल या विभाग से नहीं मिला है। विभाग से जानकारी लिया जा रहा है। उसके बाद हीं यह कुछ कहा जा सकता है कि मौत किस वजह से हुई है।

प्रीतम कुमार
कोशी की आस@उदाकिशुनगंज, मधेपुरा

- Advertisement -