लॉकडाउन में दिल्ली में फंसे लश्करी के मजदूर को किया गया मदद

0
53
- Advertisement -

मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र के लश्करी पंचायत के रंजीत कुमार, रमेश दास, विमल राय, चंद्रशेखर राय, संजय कुमार, अवधेश कुमार, सज्जन कुमार, अंगद कुमार, प्रभास कुमार, संतु दास सभी लोग दिल्ली के गुड़गाँव, सेक्टर 21 के पास कापासेरा बॉर्डर, छिपी कॉलोनी में फसे हुए हैं।

ये लोग लॉकडाउन लागू होने से तीन चार दिन पहले ही अपने परिवार के भरण पोषण करने के लिए मजदूरी का काम करने के लिए दिल्ली गए हुए थे। जहां लॉकडाउन लागू हो जाने के कारण काम बंद हो गया। कुछ दिन तो साथ में बचे पैसे के सहारे जीवन यापन कर लिये, लेकिन उसके बाद सभी लोग परेशान होने लगे। सभी लोग अपने-अपने संपर्क के लोगों से मदत की मांग करने लगे।

- Advertisement -

इसी बीच इन लोगों की समस्या के निदान हेतू लश्करी ग्राम वासी दास प्रिंटिंग प्रेस के रोशन कुमार दास एवं बीजेपी नेता कुंदन राय ने दैनिक सन्मार्ग के जिला संवाददाता सह नेशनल जर्नलिस्ट एसोसिएशन के कोशी प्रमंडलीय संयोजक धर्मेंद्र कुमार मिश्रा से इस ओर पहल करने का अनुरोध किया। धर्मेंद्र कुमार मिश्रा ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित करवाते हुए कुछ लोगों से बात कर उन लोगों को इस विकट परिस्थिति में सहयोग करने की अपील की।

जहाँ मानवता के नाते उदाकिशुनगंज प्रखंड के शाहजादपुर निवासी और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता गौतम कुमार सिंह के पहल पर शैलाभ फाऊंडेशन और रोमित रंजन (समाज सेवी) के माध्यम से 10 किलो चावल,10 किलो आटा, 2 किलो चीनी, 2 लीटर तेल, 2 किलो चना, 1 किलो बेसन के अलावे जरुरत के अन्य सामान उप्लब्ध कराया गया।

वहीं दूसरी ओर पुरैनी प्रखंड क्षेत्र के बलिया गाँव निवासी राजद नेता कुंदन कुमार सिंह ने वहां के के जनप्रतिनिधि से बात कर राध कृष्ण मंदिर परिसर में खाने पीने की व्यवस्था करवाया।

प्रीतम कुमार
कोशी की आस@उदाकिशुनगंज,मधेपुरा

- Advertisement -