मधेपुरा: खारा गांव में एपीएचसी स्वास्थ्य भवन नहीं बनने से लोगों में आक्रोश,विधायक और पदाधिकारी दे रहे हैं कोरा आश्वासन

0
127
- Advertisement -

मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज प्रखंड क्षेत्र के सुदूरवर्ती खाड़ा पंचायत में आमजनों को समय पर नहीं मिल रहे स्वास्थ्य सलाह और ना ही चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी जैसी मूलभूत सुविधाऐं। कोरोना जैसे  महामारी के कुसमय में भी चिकित्सा सुविधा से वंचित हो रहे हैं इस क्षेत्र के हजारों लोग काफी परेशान हैं। इस समस्या के समाधान के लिए स्वास्थ्य विभाग बिहार सरकार के नाम पड़े जमीन पर पूर्व के अस्पताल भवन के मलवे की जगह अस्पताल भवन निर्माण किए जाने की मांग अब तुल पकड़ने लगी है।

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से जनता अनशन की मूड में।

- Advertisement -

बताते चलें कि उदाकिशुनगंज पश्चिमी  जिला परिषद क्षेत्र संख्या -18 के भावी प्रत्यासी, खाड़ा की बेटी सह समाजसेवी डेजी झा ने जिला पदाधिकारी मधेपुरा से अपने इमेल कर प्रखंड के सुदूरवर्ती क्षेत्र के लोगों की मूलभूत स्वास्थ्य समस्या की ओर ध्यान आकृष्ट कराकर आवश्यक कार्यवाही का अनुरोध किया है। उन्होंने बताया कि बिहार सरकार स्वास्थ्य विभाग के नाम से खाड़ा में जमीन उपलब्ध रहने के बावजूद सुशासन सरकार द्वारा एपीएचएसी सेंटर का भवन निर्माण नहीं किए जाने से ग्रामीणों में अंदर ही अंदर आंदोलन की आग सुलग रही है। डेजी ने बताया कि अब अस्पताल भवन निर्माण के लिए आमरण अनशन का ही रास्ता जनता के हितों के लिए सही चुनाव है।

लटकता देख एपीएचसी खाड़ा का भवन निर्माण पर आक्रोशित होते ग्रामीण।

इस मुहीम में शोशल मीडिया पर किए  पोस्ट पर भी तमाम समर्थन मिल रहा है। समर्थन देते हुए कुछ लोगों ने साथ देने का वादा किया तो कुछ लोगों ने विधायक नरेन्द्र नारायण यादव से इस बिषय में बातें कर आश्वासन देने की बात कही। कुछ ने तो मीडिया में इसे प्रमुखता से उठाए जाने हेतु पत्रकार के लेखनी को सराहा। डेजी झा ने अस्पताल भवन निर्माण को लेकर आवेदन  मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग सहित डीएम व अन्य पदाधिकारियों को भी दिया है। आवेदन में लिखा है कि इस मामले को लेकर 2 वर्षों से लगातार आवेदन दिया जा रहा है। लेकिन सरकार और पदाधिकारियों की ओर से अब तक कोई सकारात्मक पहल नहीं हो पाई है।

विधायक और पदाधिकारी के कोरा आश्वासन से जनता हो रही स्वास्थ, चिकित्सा सेवा जैसी मूलभूत सुविधा से वंचित

इस मामले को लेकर अब जिला मुख्यालय पर आमरण अनशन करने की भी बाते की गई है। आवेदन में लिखा गया है कि हद तो तब हो गई है कि जब मिली जानकारी के अनुसार खाड़ा एपीएचसी में पदस्थापित डॉक्टर नवीन कुमार एवं एएनएम प्रियंका कुमारी से खाड़ा की जनता को स्वास्थ्य संबंधित लाभ पाना तो दूर अबतक दर्शन भी नसीव नही हो पाया है । आवेदन में ये भी लिखा है कि उपरोक्त तथ्यों का अवलोकन करते हुए अविलंब खाड़ा एपीएचसी में चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मी को प्रतिनियुक्त किया जाय एवं जल्द से जल्द एपीएचसी भवन निर्माण हेतु आवश्यक कार्यवाही की जाय अन्यथा वाध्य होकर हम आमरण अनशन पर जिला मुख्यालय में बैठेंगे। जिसकी सारी जवाबदेही जिला प्रशासन एवं सिविल सर्जन की होगी ।

प्रीतम कुमार
कोशी की आस@उदाकिशुनगंज, मधेपुरा

- Advertisement -