नकली सेवाशर्त के विरोध में 12 सितंबर को निकाला जाएगा मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री का अर्थी जुलूस – आनंद कौशल सिंह

0
48
- Advertisement -

बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह की अध्यक्षता में गुरुवार को राज्य स्तरीय वर्चुअल बैठक सम्पन्न हुई है। बैठक में उपस्थित राज्य कमिटि और जिला कमिटि के सभी पदाधिकारियों के द्वारा बिहार सरकार के द्वारा लागू की गई सेवाशर्त को नकली बता, उसके विरोध में 12 सितंबर को मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री का अर्थी जुलूस राज्य के सभी प्रखंडों में कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए निकालने का निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया। राज्यस्तरीय वर्चुअल मीटिंग में ही सूबे के सभी प्रखंड में अर्थी जुलूस को सफल बनाने की रणनीति तैयार की गई।

सरकार को दी गई अचार संहिता लागू होने से पहले 04 लाख शिक्षकों के सात सूत्री माँग को पुरी करने की चेतावनी

- Advertisement -

साथ ही 04 लाख शिक्षकों के पूर्ण वेतनमान, राज्यकर्मी का दर्जा, पुराना सेवाशर्त, पेंशन सहित सभी 07 सूत्री मांग को आसन्न बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर लागू होने वाली आदर्श आचार संहिता से पहले पूरी करने की चेतावनी सरकार को दी गई है।

04 लाख शिक्षकों ने किया अपना वोट एनडीए को नहीं देने का एलान

उपरोक्त जानकारी देते हुए जिलाध्यक्ष सुबोध कुमार पासवान ने बताया कि नीतीश कुमार की नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने 15 साल तक 04 लाख शिक्षकों को अपमानित करने और धोखा देने का काम किया है।
उन्होंने कहा कि शिक्षकों के लिए नकली सेवाशर्त लागू किए जाने के विरोध में 12 सितंबर को बिहार के सभी प्रखंडों में मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री का अर्थी जुलूस निकाला जायेगा। उन्होंने कहा कि आदर्श अचार संहिता लागू होने से पहले सरकार के द्वारा सात सूत्री माँग को पुरी नहीं की गई तो 04 लाख शिक्षकों के एक करोड़ स्वजन अपना वोट जदयू-भाजपा के प्रत्याशी को नहीं देंगें। साथ ही सत्ता से बेदखल कर अपमान और धोखा का बदला लेंगें।

बैठक में प्रदेश महासचिव रामचंद्र रॉय, उपाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह, सचिव बिपिन बिहारी भारती, कोषाध्यक्ष
प्रशांत कुमार,उपसचिव सुप्रिया सिंह, प्रवक्ता मुस्तफा आजाद, एजाजुल हक उपस्थित थे।

राहुल यादव
कोशी की आस@मधेपुरा

- Advertisement -