सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ चौसा ने संक्रमण के रोकथाम हेतु महादलित बस्ती में जागरूकता अभियान

0
53
- Advertisement -

मधेपुरा जिले के सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ चौसा ने कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु अरजपुर पश्चिमी पंचायत के भटगामा महादलित बस्ती में जागरूकता अभियान के तहत अमलोगों को सोशल डिस्टेंस और हाथ धोने के तरीकों से अवगत कराया। इस दौरान आमलोगों के बीच साबुन, सेनिटाइजर का भी वितरण किया गया। संघ के संरक्षक सत्यप्रकाश गुप्ता विदुरजी ने ग्रामीणों से हाथ जोड़कर अपील किया गया कि बहुत ज्यादा जरूरी हो तभी घर से एक व्यक्ति बाहर निकले। प्रधानमंत्री ने लाक डाउन का नियम जो लगाया है वह साहसिक कदम है। धैर्य रखें और प्रशासन का सहयोग करने की बात कही और सबों को सोशल डिस्टेंस बनाकर रहने की अपील की।

अरजपुर पश्चिमी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि सुबोध कुमार सुमन ने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रकोप से बचाव के लिए संघ द्वारा समाजिक स्तर पर जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जो काबिले तारीफ है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को साफ-सफाई पर ध्यान देने की जरूरत है। बाहरी खाना खाने व बिना जरुरत के बाहर नहीं निकलना चाहिए। अपने हाथों को दिन में कई बार हैंडवाश या साबुन से सफाई करना चाहिए।

- Advertisement -

चौसा पूर्वी मुखिया प्रतिनिधि अभिनंदन मंडल ने विशेष कर महिलाओ को घर में साफ सफाई की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि महिला जागरूक होंगी तो कोरोना वायरस को खदेड़ने में ज्यादा वक्त नही लगेगा। इस वायरस से मुक्ति को लेकर सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ कमर कस चुकी है। इस संक्रमण से लड़ने के लिए विभिन्न वार्डों व प्रखंडों में घूम घूम कर लोगों को जागरूक किया जा रहा।

सचिव संजय कुमार सुमन ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप को ध्यान में रखकर आम जनता के बीच इस संक्रामक रोग की रोकथाम के लिए जागरुकता अभियान चलाने से हीं इस महामारी से बचा जा सकता है। लोगों को चाहिए कि खांसते या छिंकते समय रुमाल या टिशू पेपर का प्रयोग करे। इस बीमारी से डरने की नहीं लड़ने की जरुरत है।

कोषाध्यक्ष आशीष कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस को हराने के लिए हरहाल में 14 अप्रैल तक घर में रहें। यही राष्ट्र धर्म, राष्ट्रसेवा और राष्ट्रीय कर्तव्य है। वरीय सदस्य जवाहर चौधरी ने आम लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि ऐसे में इस संकट से डरने या घबराने की बजाय हर परिस्थिति से मुकाबले के लिए खुद को तैयार करना जरूरी है। स्वछता से हीं इस संक्रमण को भगाया जा सकता है। अगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो ये महामारी बहुत ही गंभीर हो जाएगा।

प्रशिक्षक भालचंद्र मंडल ने उपस्थित सभी लोगों, बच्चों को हाथ धोकर हाथ धोने के तरीके को विस्तृत रूप से बताया।
इस मौके पर अरजपुर पश्चिमी मुखिया प्रतिनिधि सुबोध कुमार सुमन, चौसा पूर्वी मुखिया प्रतिनिधि अभिनंदन कुमार मंडल, संरक्षक सत्यप्रकाश गुप्त विदुरजी, सचिव संजय कुमार सुमन, प्रशिक्षक शिक्षक भालचंद्र मंडल,आशीष कुमार, जवाहर चौधरी,कुमार साजन, विद्याकर कवि, कामेश्वर कुमार,नवीन मंडल, ज्योति देवी,मंजुला देवी, सुनीता देवी, कविता देवी, अरुण ऋषिदेव, मंगल ऋषिदेव समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।

राहुल यादव
कोशी की आस@मधेपुरा

- Advertisement -