सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ, चौसा ने बुद्धिजीवीयों के साथ “जागरूकता चर्चा” और सुरक्षात्मक सामग्री का वितरण।

0
28
- Advertisement -

राहुल यादव
कोशी की आस@मधेपुरा

जिले के सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ, चौसा द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगातार जन जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान जरूरतमंदों को मुफ्त सुरक्षात्मक सामग्री भी मुहैया कराया जा रहा है।

- Advertisement -

ज्ञातव्य है कि संघ को सूचना मिली थी कि चौसा पूर्वी पंचायत के कालीस्थान बशैठा स्थित दलित मुहल्ले के लोग सोशल डिस्टेंसिंग तथा विभिन्न सुरक्षा उपायों से अनजान हैं। लिहाजा संघ के सदस्यगण उक्त मुहल्ला पहुंचे तथा लोगों जागरूक किया। मौके पर मुफ्त सुरक्षात्मक सामग्री का भी वितरण किया गया।

अभियान के तीसरे दिन सामाजिक शैक्षणिक कल्याण संघ, चौसा की कोर कमिटी कालीस्थान बशैठा फिर पहुंची और स्थानीय बुद्धिजीवीयों के साथ “जागरूकता चर्चा ” का आयोजन किया। बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मुखिया प्रतिनिधि अभिनंदन मंडल ने कहा कि पंचायत के प्रतिनिधिगण स्थिति पर लगातार नज़र रखे हुए हैं। प्रवासी मजदूरों के घर लौटने पर उनके लिए पंचायत सरकार भवन में क्वारेंटाईन भवन बनाया गया है।

चर्चा को संबोधित करते हुए संघ के संरक्षक सत्यप्रकाश गुप्त ‘विदूरजी’ ने कहा कि कोरोना वायरस लाईलाज है। सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कर इससे बचा जा सकता है। अध्यक्ष यहिया सिद्दीकी ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ साथ साफ-सफाई जरूरी है। नवचयनित अंचलअधिकारी चन्द्रजीत प्रकाश ने कहा कि मास्क, तौलिया या रूमाल से नाक – मुंह ढक कर रखें और सिनेटायजर या साबुन से हाथों को लगातार साफ करते रहें। संघ के सचिव संजय कुमार सुमन ने कहा कि विपदा की इस घड़ी में समाज को संभालने की जिम्मेदारी बुद्धिजीवी वर्ग की है। उन्होंने कहा कि बुद्धिजीवीयों को आगे आकर पूर्ण लाॅक डाऊन और सोशल डिस्टेंसिंग के लिए समुदाय को जागरूक करना चाहिए।

मौके पर संघ के कोषाध्यक्ष आशीष कुमार, प्रशिक्षक भालचंद्र मंडल, वरीय सदस्य जवाहर चौधरी, पत्रकार कुमार साजन, समाजसेवी मणिलाल पासवान, शिक्षक संजय पासवान, ग्रामीण पुलिस चन्द्रबदन पासवान, प्रमोद पासवान, गरीब पासवान, बीरेंद्र राम समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।

- Advertisement -