20 सालों से अधर में लटके पुल का विधायक विजय कुमार ने स्वतंत्रता दिवस पर किया निरीक्षण

0
47
- Advertisement -

मुंगेर : स्थानीय विधायक विजयकुमार विजय के द्वारा स्वतंत्रता दिवस पर घोरघट पुल का निरीक्षण करते हुए कहा कि यह पुल लगभग 20 सालों से अधर में लटका हुआ है। उन्होंने कहा कि कितने जिलाधिकारी आए और चले गए। लेकिन इस घोरघट पुल का उद्धार कोई नहीं कर सका। मौजूदा बिहार सरकार कुम्भकर्णी नींद में सोई हुई है। लेकिन जनता जनार्दन के कष्टों का कोई ख्याल नहीं है। इस पुल के नहीं बनने से मुंगेर में ही नहीं बल्कि आसपास के जिले भी प्रभावित है। इस पुल के नहीं बनने के कारण मुंगेर जिले की आम जनता को किसी न किसी रूप में महंगाई का सामना करना पड़ता है। ट्रांसपोटेशन बड़े गाड़ियों की जगह पर छोटी गाड़ियों से की जाती है, जिसका किराया बहुत ज्यादा होता है। जिसके वजह से व्यपारियों दुकानदारों के द्वारा सामान के क़ीमतों में वृद्धि कर दी जाती है। जिसका खामियाजा सीधे सीधे मुंगेर की जनता को भुगतना पड़ता है।

- Advertisement -

विधायक ने कहा कि 2015 में मेरे विधायक बनने के पहले ही घोरघट पुल का कार्य आरंभ हो गया था। इसके साथ आसपास के कई पुलों का निर्माण कार्य भी आरंभ हुआ था।जिसमें भागलपुर चंपानाला पुल, सुलतानगंज रेल ओवरब्रिज, बरियारपुर रेल ओवरब्रिज का कार्य पूरा हो गया। लेकिन क्या वजह है कि घोरघट पुल का कार्य अभी तक पूरा नहीं हुआ है? जबकि मौजूदा सरकार के मंत्री जमालपुर विधायक है। सरकार चलाने में अहम भूमिका रखने वाले मुंगेर सांसद है। फिर भी जनता सरकार के द्वारा उपेक्षित है।

मौके पर डीएसएस प्रदेश अध्यक्ष डॉ यादूवेंद्र रणधीर, राजद अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ प्रदेश के उपाध्यक्ष हबीबुर रहमान, पंचायतीराज जिलाध्यक्ष विजय यादव और ध्रुव यादव मौजूद थे।

विवेक कुमार यादव
कोशी की आस@पटना

- Advertisement -