अंचल अधिकारी, जमालपुर द्वारा “जेके न्यूज 24×7” के मीडिया कर्मी को दलाल बताये जाने का मामला।

0
211
- Advertisement -

कोशी की आस@पटना से ब्यूरो रिपोर्ट

बिहार के मुंगेर जिला अंतर्गत अंचल जमालपुर के अंचल अधिकारी शंभू मंडल ने जेके न्यूज 24×7 के ब्यूरो चीफ बिहार झारखंड विवेक कुमार यादव को व्हाट्सएप के माध्यम से बातचीत के दौरान मैसेज किया कि “बिना कोई साक्ष्य के मुझे भी पता है, तुम लोग स्वयं दलाली करते हो और जो मन में आया लिख दिया”

- Advertisement -

ज्ञात हो कि विवेक कुमार यादव द्वारा बीते कुछ दिनों से अंचल कार्यालय जमालपुर में हो रहे भ्रष्टाचार का मामला लगातार उठाया जा रहा है। जिसके तहत अंचल कार्यालय जमालपुर के राजस्व कर्मचारी रविशंकर सिन्हा के बारे में संवाद सूत्रों का हवाला देते हुए बिना मोटेशन के ही लगान रसीद निर्गत कर देने के बारे में जानकारी बीते 2 दिनों से लगातार उक्त पत्रकार के द्वारा मीडिया के माध्यम से प्रकाश में लाया जा रहा था।

अंचल अधिकारी, जमालपुर, शंभू मंडल से उक्त संबंध में व्हाट्सएप के माध्यम से बातचीत के दौरान जब विवेक कुमार द्वारा मामले को उठाया गया, तो अधिकारी द्वारा मानवता के चौथे स्तंभ को दलाल जैसे शब्दों से सम्मानित किया है। इनके नजर में जो भी मीडिया कार्यालय के भ्रष्टाचार को उजागर करने का प्रयास करते हैं वह मीडिया मात्र दलाल बन कर रह गया है। ज्ञात हो कि विवेक कुमार यादव माननीय मुख्यमंत्री के मीडिया सेल के भी सदस्य हैं। अंचल अधिकारी जमालपुर राजस्व कर्मचारी रविशंकर सिन्हा के मामले की जांच करने के बजाय मीडिया पर आरोप लगाने लगे।

अब सवाल यह है कि :-

अंचल अधिकारी जमालपुर द्वारा जब मीडिया को इस तरह के शब्दों से नवाजा जा रहा है तो आम नागरिकों के साथ व्यवहार क्या होता होगा?
मीडिया को दलाल की उपाधि देने का अधिकार कहां से प्राप्त है?
क्या अगर कोई मीडिया फैले भ्रष्टाचार का पर्दाफाश करता है तो वह दलाल है?
क्या अगर कोई संवाद सूत्र मीडिया को साक्ष्य के साथ फैले भ्रष्टाचार के विषय में बताता है तो क्या उसे उजागर करना मीडिया की दलाली है?

- Advertisement -