कोरोनावायरस: जीवनशैली और खानपान में सुधार लाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता को करें मजबूत

0
33
- Advertisement -

मुंगेर : देश-विदेश में कोरोनावायरस महामारी का रूप ले चुका है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग द्वारा संक्रमण से निपटने के लिए कई तरह के कारगर कदम उठाये जा रहें है। वहीं देश में अभी 10 दिन का और लॉकडाउन बाकी है। बीते 11 दिनों से हमारी शारीरिक क्रिया में भी कमी आयी है। घर में बैठे-बैठे खाने को हम मजबूर जरूर हैं, लेकिन इससे स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ सकता है। कोरोना या किसी अन्य बीमारी से लड़ना है तो रोग प्रतिरोधक क्षमता हमें मजबूत करनी चाहिए। इसके लिए खानपान के साथ शारीरिक व्यायाम बहुत जरूरी है। घर में सुरक्षित रहने के साथ साथ हाथों को बार-बार धोने, मास्क का इस्तेमाल करने के नियम का पालन तो हम कर रहे हैं लेकिन हमें अपनी जीवनशैली और खानपान में सुधार लाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत भी करना है।

दिनचर्या दुरुस्त करनी होगी:

- Advertisement -

शहर के फिजीशियन डॉक्टर दीपक कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान लोग घर में हैं ,तो जीवनचर्या का कुछ तय नहीं हो पाता। कुछ लोग देर रात तक जाग रहे हैं, सुबह देर से उठ रहे हैं, भोजन ठंडा खा रहे हैं। इस खराब दिनचर्या से कई परेशानियां हो सकती हैं जैसे अपच कब्ज खट्टी डकार यादी मधुमेह या हृदय रोगियों की समस्या भी बढ़ सकती है। इसलिए हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम रात में भरपूर नींद लें और सुबह जल्दी उठे। अच्छी नींद से आप खुद को स्वस्थ तरोताजा और ऊर्जावान महसूस करेंगे। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी। खासकर मधुमेह, मोटापे, हृदय रोग और रक्तचाप के मरीजों को अपनी अवस्था नियंत्रित रखने के लिए भी पर्याप्त नींद जरूरी है।

अच्छी सेहत के लिए पानी ज्यादा जरूरी:

डॉ दीपक ने कहा कि स्वस्थ रहने के लिए दूसरी आवश्यक वस्तु है पर्याप्त मात्रा में पानी लेना। कई बार एक ही जगह बैठे रहने, टीवी देखने आदि के कारण ज्यादा लोग चल नहीं पाते इसलिए हो सकता है कि प्यास भी कम लगे पर इसका यह अर्थ नहीं है कि आप पानी ना पिए, गर्मी बढ़ रही है और पानी की जरूरत ज्यादा है। इसलिए पानी का सेवन 4 से 5 लीटर दिन भर में करनी चाहिए। पानी की कमी के कारण शरीर में अजीब सी थकान और भारीपन महसूस हो सकता है साथ ही आलस्य भी आ सकता है। जिन्हें गुर्दे या दिल की परेशानी है वह अपने चिकित्सक की बताई गई मात्रा में ही तरल पदार्थ लें।

घर में योगा या व्यायाम जरूर करें:

जब हम घर के अंदर हैं तो किसी और गतिविधि की गुंजाइश नहीं है। इसलिए योग या व्यायाम नियमित करना चाहिए। इससे शारीरिक गतिविधियां सही रहती हैं। मानसिक संतुलन और संतुष्टि के लिए 10-15 मिनट आंखें बंद करके ध्यान जरूर लगाएं। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए प्रोटीन के साथ-साथ विटामिन सी विटामिन डी और जिंक अधिक जरूरी है. इसलिए ऐसे खाद्य पदार्थों का पर्याप्त मात्रा में सेवन करें। उन्होंने कहा कि मसालेदार खाने से परहेज करें, हरी सब्जियों और फलों का ज्यादा इस्तेमाल करें।

समय का ख्याल रखें:

सुबह उठने के 2 घंटे के भीतर नाश्ता कर लें। हर 3-4 घंटे के अंदर कुछ खाना लें। उदाहरण के तौर पर सुबह का नाश्ता, दोपहर में खाना, शाम को चाय के साथ थोड़े से स्नैक्स जैसे पोहा उषमा लीजिए और रात मैं हल्का खाना जरूर लें।

- Advertisement -