नवगछिया : बिहपुर में दो वर्षीय बच्चे की गला दबाकर हत्या, जाँच में जुटी पुलिस।

0
498
- Advertisement -

विहान सिंह राजपूत
कोसी की आस@नवगछिया

पुलिस जिले के बिहपुर के जामा मस्जिद के पास मोमिन टोला वार्ड नंबर 12 में मंगलवार को हृदय को झकझोर देने वाली घटना हुई। एक दो वर्षीय मासूम की गला दबाकर सगे चाचा ने हत्या कर दी। मासूम के पूरे शरीर पर चोट और गहरे जख्म के निशान थे। घटना के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए नवगछिया अनुमंडलीय अस्पताल लाया।

- Advertisement -

मासूम की मां रेशमी खातून ने बिलखते हुए बताया कि सुबह 10 बजे देवर मोहम्मद तौहीद आया और कहा दीजिए बाबू को घुमाकर लाते हैं। इसके बाद बच्चे को लेकर सर्वोदय फील्ड की तरफ चला गया। करीब एक घंटे बाद उसे लाकर गोद में दे दिया और फरार हो गया। मासूम मो. अरमान के शरीर में कोई हरकत नहीं देख मां फूट-फूट कर रोने लगी।

मासूम की मां ने कहा कि पहले भी देवर ने कई बार बच्चे को जान से मारने की धमकी दी थी। अनुमंडलीय अस्पताल में मासूम की खाला (मौसी) अफसाना ने बिलखते हुए बताया कि बेटे की मौत से मां बदहवास हो गयी है।

पहले पति व फिर एकलौते पुत्र की मौत से टूटा दुखों का पहाड़-

2017 में पति मो. मुन्ना की मौत के बाद अपने एकलौते पुत्र की हत्या से मां रेशमी खातून अर्धविक्षिप्त सी हो गयी है। वह बार-बार बेहोश होकर गिर जा रही थी। उसे उसकी मां और बहन पानी का छींटा डालकर होश में ला रही थी। होश में आने पर वह दौड़कर नन्हे बेटे को कभी गोद में सुला रही थी तो कभी पुचकार रही थी, जैसे वह गहरी नींद में सोया हो।

डेढ़ माह पूर्व मायके से आई थी रेशमी:

सात वर्ष पूर्व मो. मुन्ना से रेशमी खातून की शादी हुई थी। उसे एक पुत्री शाहिस्ता (चार वर्ष) और पुत्र अरमान था। परिजनों ने बताया कि दो वर्ष पहले पति की बीमारी से मौत हो गयी। कुछ ही दिनों बाद देवर उसे मारपीट कर भगा दिया। इसके बाद वह मायके खगड़िया जिले के गोगरी थाने के रामपुर में रहने लगी। डेढ़ माह पूर्व ही वह बच्चे के साथ ससुराल आयी थी।

डीह में हिस्सा नहीं देने पर देवर देता था हत्या की धमकी:

अफसाना ने बताया कि देवर मो. तौहीद बार-बार डीह में हिस्सा नहीं देने की बात कहकर रेशमी खातून को बिहपुर से मारपीट कर भगा देता था। फिर भी वह कहती थी कि अब वह निकाह नहीं करेगी। बिहपुर में ही रहेगी। इसी बात पर एक सप्ताह पहले मासूम मो. अरमान की हत्या करने की धमकी दी थी। उसने कहा था कि हिस्सा लेने वाला ही नहीं रहेगा तो हिस्सा कौन मांगेगा।

- Advertisement -