जब तक सूरज चांद रहेगा, परशुराम तेरा नाम रहेगा, के नारे से गूंजा रमनकाबाद

0
54
- Advertisement -

पश्चिम बंगाल के सियालदह में हुई दुर्घटना में हवेली खड़गपुर प्रखंड के रमनकाबाद गांव निवासी पुनित यादव के पुत्र आरपीएफ जवान परशुराम कुमार की मौत हो गई। मंगलवार की सुबह तिरंगा में लिपटा परशुराम कुमार का शव रमनकाबाद गांव स्थित आवास पर लाया गया। शव पहुंचते ही गांव में शोक की लहर दौड़ पड़ी। ग्रामीणों ने नम आंखों से अपने लाल को अंतिम विदाई दी।

मंगलवार की सुबह सियालदह के आरपीएफ इंस्पेक्टर संतोष कुमार परशुराम का पार्थिव शरीर फूलों से सजे शव वाहन से उनके पैतृक आवास रमनकाबाद पहुंचाया। जहां जमालपुर के आरपीएफ जवानों द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके पूर्व सैंकड़ों की संख्या में बाइक सवार रमनकाबाद गांव के ग्रामीण मिल्की गांव से हाथों में तिरंगा लेकर जब तक सूरज चांद रहेगा परशुराम तेरा नाम रहेगा के गगनभेदी नारे लगाते हुए पार्थिव शरीर को रमनकाबाद गांव लाया।

- Advertisement -

ग्रामीण नौजवानों ने उन्हें श्रद्धाजंलि देते हुए परशुराम को एक जांबाज युवा बताया। ज्ञात हो कि रमनकाबाद निवासी पुनीत यादव का पुत्र सियालदह में आरपीएफ कांस्टेबल पद पर कार्यरत था। सियालदह में ही ट्रेन की चपेट में आने से दुर्घटना में उसकी मौत हो गई थी। इधर पार्थिव शरीर घर पहुंचने के उपरांत तिरंगे में लिपटे परशुराम के शव को देखकर वृद्ध पिता पुनीत यादव समेत स्वजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया है।

विवेक कुमार यादव
कोशी की आस@पटना

- Advertisement -