पोषण पखवाड़े के दूसरे दिन स्वच्छता पर चर्चा के साथ साथ होली मिलन समारोह आयोजित

0
46
- Advertisement -

लखीसराय, 9 मार्च: पोषण पखवाड़े के दूसरे दिन सोमवार को जिला के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर होली मिलन समारोह व पोषण चौपाल का आयोजन किया गया। इस समारोह में गर्भवती महिलाओं और उनके परिवार के सदस्यों को आमंत्रित किया गया। होली खेलने के साथ पोषण चौपाल में आंगनबाड़ी सेविकाओं ने गर्भवती महिलाओं व उनके साथ आये परिवार के सदस्यों को पोषण संबंधी जानकारी दी। होली मिलन समारोह सह पोषण चौपाल में वार्ड सदस्य, मुखिया व जीविका समूह की महिलाओं सहित स्थानीय शिक्षक भी शामिल हुए और पोषण पर चर्चा की गयी। पोषण चौपाल के बाद शामिल सदस्यों ने गांव में स्वच्छता अभियान भी चलाया।

साफ सफाई से रोका जा सकता है डायरिया:

- Advertisement -

पोषण पर चर्चा के दौरान गांव को स्वच्छ रखने की बात भी कही गयी। आंगनबाड़ी सेविकाओं ने मौजूद लोगों को बताया कि कुपोषण दूर करने के लिए जहां गर्भवती महिलाओं व बच्चों का खानपान सही होना चाहिए तो वहीं लोगों को अपने आसपास की स्वच्छता पर भी ध्यान देना है ताकि डायरिया जैसी संक्रामक बीमारी की रोकथाम की जा सके।

दैनिक खानपान में पौष्टिक तत्वों का हो समावेश:

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी कुमारी अनुपमा ने बताया होली मिलन समारोह व पोषण चौपाल के माध्यम से महिलाओं व पुरुषों को ऐसे खानपान के बारे में बताया गया है जिनमें प्रोटीन, विटामिन,आयरन जैसे तत्व अधिक मात्रा में होते हैं। इससे पोषण पर लोगों की समझ में इजाफा हो रहा है। इस तरह से पोषण पर उनके व्यवहार परिवर्तन को भी लेकर जागरूक किया गया है। अधिकांश महिलाएं अब पोषण संबंधी बातों की जानकारी लेकर अपने दैनिक खानपान में बदलाव कर रही हैं। कुपोषण के परिणाम को लेकर महिलाएं जागरूक हुई हैं साथ ही गर्भवती महिलाओं के पौष्टिक खानपान के साथ 6 माह से 2 वर्ष तक के बच्चों को घर में पका खाना खिलाने, भोजन में विविधिता सहित पोषण के महत्व पर विस्तार से चर्चा की गयी है।

22 मार्च तक चलेगा पोषण पखवाड़ा:

विभिन्न विभागों की सहभागिता से पोषण पखवाड़े का आयोजन 22 मार्च तक किया जायेगा। इसमें पोषण संबंधी विभिन्न गतिविधियां शामिल हैं। पोषण पखवाड़े में समाज कल्याण विभाग के साथ स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, पंचायती राज, ग्रामीण विकास, पीएचइडी एवं खाद्य सुरक्षा विभाग शामिल होकर लोगों को पोषण संबंधी जानकारी दे रहे हैं।

- Advertisement -