पूर्णियाँ : चाइल्ड लाइन द्वारा भटकी हुई बच्ची को जांचोपरांत उनके परिवार को सौंपा।

0
53
- Advertisement -

प्रफुल्ल कुमार सिंह
कोशी की आस@पूर्णियाँ

मंगलवार देर शाम को चाइल्ड लाइन कक 1098 पर सूचना मिली की एक भटकी हुई बच्ची मधुबनी के अड़गडा़ चौक पर मिली है। सूचना मिलते ही चाइल्ड लाइन की टीम अड़गडा़ चौक पहुंची और सबसे पहले बच्ची को अपने संरक्षण में लेकर मधुबनी टी पी ओ में बच्ची के मिलने की एक लिखित सूचना देकर बच्ची को चाइल्ड लाइन कार्यालय लाया गया।

- Advertisement -

जब बच्ची से चाइल्ड लाइन द्वारा पूछताछ की गयी तो बच्ची सिर्फ गिरजा चौक ही बता पा रही थी। बताया जा रहा है कि मानसिक रूप से कमजोर होने के नाते, वह अपना पता ठीक ठीक नहीं बता पाई। चाइल्ड लाइन के मो शहजादा हसन ने बताया कि जब बच्ची से पूछताछ करने पर कोई भी नतीजा नहीं निकला तो बच्ची का फोटो खिचवा कर गिरजा चौक पर बच्ची के घर का पता करने को चाइल्ड लाइन के सदस्य को भेजा गया। तब जाकर कुछ देर बाद चाइल्ड लाइन के सदस्य ने बताया कि बच्ची के अभिभावक का पता चल गया है वह मधुबनी के मोलवी टोला के पास रहती है।

चाइल्ड लाइन द्वारा बच्ची के अभिभावक को माता-पिता, वार्ड कमिश्नर द्वारा प्रमाणित किया हुआ पेपर एवं अपने पडो़स के एक व्यक्ति को कागजात लेकर चाइल्ड लाइन कार्यालय बुलाया गया। अभिभावक अपने कागजात और वार्ड कमिश्नर से प्रमाणित किया हुआ पेपर तो लेकर चाइल्ड लाइन कार्यालय आये। परन्तु उसके पड़ोसी गवाही देने को तैयार नहीं हुए। बच्ची के अभिभावक ने बताया कि मेरी बेटी की उम्र 14 वर्ष है, मेरी बेटी मानसिक रूप से कमजोर है, परन्तु मेरे पड़ोसी का व्यक्ति गवाही देने को तैयार नहीं है। तब जाकर बच्ची को उसके अभिभावक को सुपुर्द करवाने के लिए एक मुस्लिम युवक मो इकबाल जो उसके पडो़सी भी है उन्होंने अपना आधार कार्ड का फोटो और सुपुर्दगीनामा पर हस्ताक्षर किया तब जा कर बच्ची को उसके अभिभावक को बच्ची सौंपा जा सका। बच्ची के अभिभावक चंदेश्वरी साह ने बताया कि हमलोग बच्ची को छुड़वाने के लिए अपने बहुत सारे रिश्तेदार को बोला परन्तु वह लोग कोई तैयार नहीं हुए मैं अपने इस मुस्लिम भाई को दिल से धन्यवाद देते है कि उन्होंने बिना सोचे समझे अपनी गवाही कर के मेरे बच्ची को मुझे सुपुर्द करवा दिया।

उन्होंने कहा कि मैं कहना चाहता हूँ कि भले ही देश के नेता अपना अपना उल्लू सीधा करने के लिए हमलोगों को लडा़ते है। परन्तु हमलोग एक दुसरे के पुरक है। मैं उन नेताओं से कहना चाहते है कि हमलोग बरसों से भाईचारे की जिंदगी जीते आ रहे है। और आशा करता हुं कि यह सिलसिला आगे भी चलता रहेगा। इस मौके पर चाइल्ड लाइन के मो शहजादा हसन, मयुरेश गौरव, रूबी साह, खुश्बू चौधरी, मुकेश कुमार आदि मौजूद थे।

- Advertisement -