लॉक डाउन में जरूरतमंद का सहारा बने डॉक्टर अजीत

0
35
- Advertisement -

प्रफुल्ल कुमार सिंह
कोशी की आस@पूर्णियाँ

जिले में दिनांक 2 अप्रैल 2020 को सहयोग अध्यक्ष डॉ अजीत प्रसाद सिंह के द्वारा अत्यंत जरूरतमंद लोगों का सेवा किया गया। एक व्यक्ति ने डॉक्टर अजीत प्रसाद सिंह से फोन पर वार्तालाप के पश्चात बताया कि मैं कोरियर कंपनी में काम करता हूँ, मेरा नाम सुदिसता कुमार और घर खगड़िया है। सुदिसता ने कहा हमारे साथ पांच व्यक्ति हैं जो परेशान हैं। लॉक डाउन के कारण मैं पूर्णिया में फंस गया हूँ और रोज कमाने खाने वाला व्यक्ति हूँ, पैसा मिलता था तो उसके राशन खरीद कर मैं रोज खाता था। मैं बहुत ही परेशान हूँ। मेरे पास राशन पानी खत्म हो चुका है और मेरे सामने भूखे रहने का नौबत आ गया है। इसलिए अगर आप से कुछ बने तो मुझे सहयोग कीजिए क्योंकि मैंने आपके द्वारा कई जगह लोगों को सहयोग करते हुए पेपर में देखा था और एक शुभचिंतक से आपका नंबर मिला। इसलिए मैं आपसे आग्रह करता हूँ कि मुझे कुछ राशन सामग्री उपलब्ध कराया जाए तो मेहरबानी होगी।

- Advertisement -

डॉ अजीत प्रसाद सिंह ने तुरंत संज्ञान लेते हुए उन्हें चावल, दाल, मुरही, नमक, तेल, मसाला, आलू आदि खरीदकर उपलब्ध कराया और उन्हें अपने आप को बेसहारा नहीं समझने का सलाह दिया। डॉ अजीत ने कहा कि मानव अगर मानव के दुख में काम नहीं आएगा तो मानव होना बेकार है। हमसे यथासंभव जो बन पाया मैं आपको दिया। आगे भी जरूरतमंदों के मदद के लिए मैं तत्पर रहूंगा।

बताते चलें कि खगड़िया घर होने के कारण उनके पास किसी भी प्रकार की राशन कार्ड या सरकारी कागजात पूर्णिया का नहीं होने के कारण सरकारी सहायता उन्हें नहीं मिल पा रहा था जिसके कारण वह बहुत परेशान था। डॉ अजीत ने अन्य लोगों से भी आग्रह किया कि अपने आस-पड़ोस पर जो भी इस तरह के व्यक्ति हो उन्हें यथासंभव मदद करने का प्रयास किया जाए ताकि मानवता पर विश्वास बना रहे। अगर आपके पड़ोस के कोई व्यक्ति भूखा सो रहा है तो फिर आपको भी शांति नहीं होगी। इसलिए यथासंभव थोड़ा कम खाएं लेकिन अन्य का भी मदद करें क्योंकि विपदा और महामारी के समय समाज के लोग ही समाज के काम सकते हैं।

- Advertisement -