पूर्णियाँ की बेटी श्रेय वत्स ने अपने प्रथम प्रयास में ही BPSC में सफलता पाकर किया क्षेत्र का नाम रौशन।

0
363
- Advertisement -

पूर्णियाँ जिले के श्रीनगर हाता में रहने वाले किशोर कुमार मिश्र और श्रीमती रमा की सुपुत्री श्रेय वत्स ने अपने प्रथम प्रयास में ही 64वीं BPSC द्वारा आयोजित परीक्षा में प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी के रूप में के अंतिम रूप से सफल होते हुए परिवार समेत पूरे जिले का नाम रौशन किया है।

परिवारजनों के अनुसार सुश्री श्रेय वत्स बचपन से ही मेधावी छात्रा के रूप में अपनी प्रतिभा से विद्यालय से विश्वविद्यालय तक के सफर में अव्वल परिणामों के साथ सफल होती रही है और बचपन से ही अपने लक्ष्य के प्रति संघर्षरत रही है। श्रेय वत्स इंजियरिंग की पढ़ाई को पूरी करते हुए अफसर बनने के सपने को पूरा करने के लिए दृढ़ संकल्पित हो गई और इस तरह श्रेय वत्स ने अपने कठिन प्रयासों से यह सफलता प्राप्त की है।

- Advertisement -

श्रेय वत्स की मानें तो उनके अफसर बनने के सफर में उनके खुद के परिश्रम के साथ—साथ उनके पिता किशोर कुमार मिश्र (GST सुप्रीटेंडेंट) और माता श्रीमती रमा (एडवोकेट) की अहम भूमिका रही है। साथ ही श्रेय वत्स मामा शशि शेखर झा के “लक्ष्य अकादमी” शिक्षण संस्थान में अध्ययन करने का भी उल्लेख किया।

इस सफलता के बाद आत्मविश्वास से लबरेज़ श्रेय वत्स का कहना है कि भविष्य में एक जिलाधिकारी के रूप में सेवा देते हुए मैं अपने समाज व देश के लिए अभूतपूर्व व अनेकों कार्य को पूरा करने के लक्ष्य को सफल करना चाहती हूँ।

बताते चलें कि सुश्री श्रेय वत्स किशोर कुमार मिश्र (GST सुप्रीटेंडेंट) और श्रीमती रमा (एडवोकेट) की इकलौती संतान हैं। श्रेय वत्स प्रख्यात शिक्षाविद एवं भूतपूर्व शिक्षा अधिकारी स्व0 श्री दिनेश्वर मिश्रा एवं अनुपमाया देवी की पौत्री हैं और श्रीनगर हाता पूर्णियां निवासी स्वर्गीय नारायण चंद्र झा (एग्जीक्यूटिव इंजीनियर) एवं नानी श्रीमती ललिता झा की नातिन हैं।

प्रफुल्ल कुमार सिंह
कोशी की आस@पूर्णियाँ

- Advertisement -