पूर्णियाँ पुलिस की एक और सफलता, डकैती गिरोह का उदभेदन।

0
310
- Advertisement -

प्रफुल्ल कुमार सिंह

कोसी की आस@ पूर्णियाँ

- Advertisement -

 

के० नगर (चम्पानगर) थाना अन्तर्गत घटित डकैती कांड का किया गया सफल उदभेदन तथा साथ ही अन्तर जिला डकैती गिरोह का उदभेदन।

कुल- 04 अपराधकर्मियों को 01 देशी कट्टा एवं 02 कारतुस के साथ गिरफ्तार किया गया को किया गया।

  1. नंदलाल सहनी उर्फ मिंटू पिता- नारायण सहनी साकिन सोहगढ कारू टोला थाना सदर जिला मधेपुरा।
  2. संजय कुमार मेहता, पिता- भैरव मेहता साकिन- चिथरियापिर, थाना के० नगर, जिला पूर्णियाँ।
  3. चिकू मेहता उर्फ गजेंद्र मेहता पे० प्रमोद मेहता, साकिन सोहरा थाना- के० नगर (चम्पानगर) जिला पूर्णियाँ।
  4. कल्लू सिंह पिता- मनोज सिंह साकिन विनोवाग्राम, थाना जानकीनगर जिला-पूर्णियाँ।

प्राथमिक ।

पुलिस अधीक्षक (विशाल शर्मा), पूर्णियाँ के निर्देशानुसार जिले में गंभीर शीर्ष यथा लूट/डकैती/ गृहभेदन /चोरी के कांडो के उदभेदन तथा रोकथाम हेतु अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सदर के नेतृत्व में छापामारी अभियान चलाया जा रहा है।

अभियान के क्रम में दिनांक -10/09/19 को गुप्त सूचना एवं के  आधार पर चम्पानगर बाजार से  01 अपराधी कल्लू सिंह को संदिग्ध अवस्था में पकड़ा गया तथा तलाशी के क्रम में उसके पास से  01 देशी कट्टा एवं 02 कारतूस बरामद किया गया।

अपराधी कल्लू सिंह द्वारा अपने स्वीकारोक्ति बयान में अपना दोष स्वीकार करते हुए के0नगर (चम्पानगर) थाना में डकैती कांड संख्या- 194/19 में अपनी संलिप्तता बताते हुए बताया कि उक्त कांड में मधेपुरा जिला के 04 पेशेवर अपराधी, जानकीनगर के 04 तथा के0 नगर के 02 (liner) शामिल है। चीकू मेहता उर्फ़ गजेंद्र मेहता liner थे तथा blutooth के माध्यम से उक्त डकैती की योजना तथा डकैती हेतु दिशा निर्देश शेष अपराधियों को दे रहा था। पकड़ाये अपराधी के निशानदेही पर ही संजय कुमार मेहता को पकड़ा गया एवं संजय कुमार मेहता के बयान एवं निशानदेही पर 2.  नन्दलाल सहनी उर्फ़ मिंटू तथा  3. चीकू मेहता उर्फ़ गजेंद्र मेहता को पकड़ा गया  तथा कांड में संलिप्त शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु सघन छापामारी की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि  उक्त कांड में संलिप्त चीकू मेहता उर्फ़ गजेंद्र मेहता, जो कांड के liner  थे। वे वादी के गांव के पड़ोसी है तथा उनके यहां घटना के करीब 01 माह पहले से उनके मक्का व्यवसाय में मुंशी का काम कर रहे थे तथा चीकू मेहता का 20,000/- रुपया के हिसाब के हेरा फेरी को लेकर वादी के पुत्र से पूर्व में विवाद हो गया था। इस कारण चीकू मेहता अपने दोस्त संजय मेहता से साथ मिलकर बदले एवं उसके पैसे हड़पने के नियत से उक्त कांड को अंजाम दिलाया। विधिसम्मत प्रक्रियाओं को पूर्ण करते हुए अभियुक्तों को गिरफ्तार कर  न्यायिक हिरासत में भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

 

- Advertisement -