चाक चौबंद व्यवस्था के बीच कुन्नूर से सहरसा पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन

0
111
- Advertisement -

सहरसा – सोमवार की रात दक्षिण भारत के कुन्नूर से चली श्रमिक स्पेशल ट्रेन मंगलवार की देर शाम सहरसा पहुंची। ट्रेन पहुंचने से पहले से ही जिला प्रशासन की तैयारी स्टेशन पर पूरी थी। मजदूरों की जांच के लिए सहरसा स्टेशन के मुख्य द्वार पर ही आठ काउंटर खोला गया था। जिस पर मजदूरों की थर्मल स्क्रीनिग की गयी। थर्मल स्क्रीनिग के बाद उसे स्टेडियम बस से भेजा गया। जहां पर उसका रजिस्ट्रेशन कराकर सबों को उसके प्रखंड क्षेत्र अंतगर्त क्वारंटाइन शिविर में भेजने की तैयारी चल रही है।

- Advertisement -

तीन मई को दक्षिण भारत के कुन्नूर से सहरसा के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन रात सात बजे खुली और अपने निर्धारित रूट स्टेशन पार करते हुए सहरसा निर्धारित समय से करीब तीन घंटे विलंब से पहुंची। प्लेटफार्म नंबर एक पर पूरी बैरेकेडिग की गयी। प्लेटफार्म से लेकर बाहर तक बैरेकेडिग किए जाने से मजदूरों को शारीरिक दूरी का पालन करते हुए बस में बिठाया गया। एक बस में मात्र 25 मजदूरों को ही बिठाया गया।

बिहार के अन्य प्रदेशों में फंसे बिहार के मजदूरों को उसके गृह जिला भेजने का काम केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार की पहल पर शुरू कर दिया है। दूसरे प्रदेशों में फंसे मजदूरों व छात्र-छात्राओं को घर लाने के लिए रेलवे ने संख्या के हिसाब से ट्रेन उपलब्ध करायी है। सहरसा स्टेशन पर यात्रियों की स्क्रीनिग, शारीरिक दूरी बनाए रखने सहित सभी तरह की जरूरी व्यवस्था उपलब्ध करायी गयी। प्लेटफार्म नंबर एक पर ट्रेन को प्लेस कराया गया। जिससे मजदूरों को सीधे बस तक ले जाने के लिए बैरेकेडिग की गयी थी। स्टेडियम में ही मजदूरों के खाना खाने की व्यवस्था की गयी थी।

वहीं जिलाधिकारी कौशल कुमार एवं एसपी राकेश कुमार सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों की टीम पूरी तरह मुस्तैद रही। ट्रेन के आने से लेकर मजदूरों को बारी -बारी से स्क्रीनिग कर उसे बस से स्टेडियम भिजवाने में जुटे रहे। मजदूरों को ले जाने के लिए 40 बसों का इंतजाम किया गया। सहरसा स्टेशन पर स्टेशन अधीक्षक नीरज चन्द्र, आरपीएफ इंस्पेक्टर सारनाथ, सदर एसडीओ शंभूनाथ झा, एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, मेजर राजेश्वर सिंह, सदर थानाध्यक्ष आर०के० सिंह, अपर थानाध्यक्ष द्रवेश कुमार, एसआई गुड्डू कुमार, रुदल कुमार, शिव कुमार पासवान, ट्रैफिक इंचार्ज नागेन्द्र राम, एसआई साधु पाल सहित अन्य अधिकारियों की मौजूदगी रही।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -