छः साल के बेटे ने दी मुखाग्नि, पंचतत्व में विलीन हुए शहीद कुंदन, अंतिम दर्शन को ले उमड़ा जनसैलाब

0
304
- Advertisement -

सहरसा : गलवान घाटी में चीन के साथ हुई हिंसक झड़प में 20 जवान शाहिद हुए। जिसमें सहरसा के आरण गाँव के वीर पुत्र कुंदन कुमार शहीद हो गए। जैसे ही शहीद जवान कुंदन कुमार का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव आरण पहुंचा। सभी की आंखें नम हो गई। हाथ में झंडा लिए सैकड़ों युवक नारा लगाने लगे-जब तक सूरज चांद रहेगा तब तक शहीद कुंदन का नाम रहेगा। भारत माता की जय और शहीद कुंदन जिंदाबाद और चीन मुर्दाबाद के खूब नारा लगे।

आज सुबह शहीद कुंदन का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव में राजकीय सम्मान के साथ संपन्न हुआ। शहीद कुंदन के अंतिम यात्रा में लोगों का जनसैलाब उमड़ पड़ा, सभी हाथो में तिरंगा और नम आँखों के साथ नारा लगा रहे थे शहीद कुंदन अमर रहे हज़ारों की संख्या में लोग उनके अंतिम विदाई में शामिल हुए। घर व गांव के लोगों को अपने बहादुर बेटे की शहादत पर गर्व भी है। शहीद कुंदन का पार्थिव शरीर जैसे ही पैतृक गांव आरण पहुंचा, एक झलक देखने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई और सबने नम आंखों से उन्हें विदाई दी। शहर से लेकर आसपास के गांव के लोग भी अंतिम दर्शन करने के लिए पहुंचे।

- Advertisement -

शहीद कुंदन के पार्थिव शरीर को देख माँ, पत्नी सहित परिवार के लोगों के आंसू रूक नहीं रहे थे। बताते चलें कि कुंदन अपने पीछे पत्नी व दो बेटे (4 व 6 वर्ष) को छोड़ गए। मौजूद लोगों का कहना था कि गर्व है ऐसी वीर पर जो हमारे क्षेत्र में जन्म लिया और देश के जान लुटाने मे कोई संकोच नहीं किया लोगों में चीन के प्रति बहुत गुस्सा था सरकार से मांग थी कि इसका जवाब चीनी सैनिकों को जरूर दिया जाय।

शहीद जवान कुंदन कुमार की विदाई में मंत्री विनोद नारायण झा, सांसद दिनेशचंद्र यादव, मंत्री रमेश ऋषिदेव, जिला परिषद अध्यक्षा अड़हुल देवी, सहरसा विधायक अरुण यादव, मधेपुरा विधायक प्रो० चन्द्रशेखर यादव, पुर्व विधायक संजीव झा, किशोर कुमार मुन्ना, आलोक रंजन, जदयू नेता अक्षय झा, घनश्याम चौधरी, मोहिउद्दीन राईन, अमर यादव, राजद नेता धानिकलाल मुखिया, पुर्व पार्षद प्रवीण आनंद, डीएम कौशल कुमार, डीआईजी सुरेश चौधरी, एसपी राकेश कुमार, एसडीओ शम्भुनाथ झा, सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी सहित कई जनप्रतिनिधी भी शामिल हुए।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -