छात्रों की कुर्बानी देकर प्रयोग ना करे सरकार, अविलंब स्थगित हो JEE-NEET परीक्षा : मनीष

0
66
- Advertisement -

सहरसा : JEE-NEET की परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर एनएसयूआई राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन के नेतृत्व में दिल्ली मे जारी देश व्यापी छात्र सत्याग्रह अनिश्चितकालीन अनशन के समर्थन में सहरसा जिला एनएसयूआई कमिटि ने स्थानीय एमएलटी काॅलेज परिसर मे एमएलटी काॅलेज छात्र संघ काॅउनसिल मेंबर आशीष आनंद के अध्यक्षता में हस्ताक्षर अभियान चलाया जिसमे सैकड़ो छात्र छात्राओ ने लाॅकडाउन गाइडलाइंस को पालन कर हस्ताक्षर अभियान मे स्वतः स्फूर्त रूप से भाग लेकर केन्द्र सरकार के द्वारा ली जाने वाले JEE-NEET परीक्षा तत्काल स्थगित करने की मांग को पुरजोर समर्थन किया।

हस्ताक्षर अभियान में मुख्य रूप से मौजूद एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक मनीष कुमार ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से संपूर्ण देश त्राहिमाम है। हर दिन पचास हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो रहे हैं। धार्मिक स्थल पूर्णतः बंद है, जब देश में संसद से लेकर विधानसभा तक सब स्थगित है, तो परीक्षाएं आयोजित करवा कर विद्यार्थियों की जान को खतरे में क्यों डाल रही है केन्द्र सरकार?

- Advertisement -

मनीष कुमार ने कहा कि देश और राज्यो की नीति निर्धारण करने एवं बजट बनाने वाले संसद और विधासभा के दो महत्वपूर्ण सत्र बजट सत्र और मॉनसून सत्र जब नही चल पाया और संसद एवं विधानसभा स्थगित है, तो JEE-NEET का परीक्षा आयोजित करना कही से उचित नहीं है। केन्द्र सरकार अविलंब सभी परीक्षा स्थगित करे क्योंकि लाखो छात्र देश के विभिन्न हिस्सो मे लाॅकडाउन एवं बाढ के वजह से फसे हुए हैं। छात्र जब परीक्षा देने भी जाएंगे तो यात्रा एवं परीक्षा के क्रम मे संक्रमित होने का बहुत बड़ा खतरा है और JEE-NEET परीक्षा मे सम्मलित विद्यार्थियो का उम्र भी ज्यादातर 17-19 के बीच का होता है इस उम्र के मे संक्रमित होने का डर ज्यादा है | एनएसयूआई जिला अध्यक्ष विराज कश्यप ने कहा की JEE-NEET परीक्षा को छात्रो की स्वास्थ्य हितो के रक्षा को लेकर अविलंब स्थगित करने को लेकर एनएसयूआई राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन के नेतृत्व मे देश व्यापी ‘छात्र सत्याग्रह’ के तौर पर अनिश्चितकालीन अनशन दिल्ली के विजय चौक पर चल रही है और संपूर्ण देश मे छात्रो लगातार ट्विटर एवं अन्य सोशल साइट्स के माध्यम से मुहिम चला कर परीक्षा की विरोध दर्ज करा रही है।

एनएसयूआई सहरसा जिला महासचिव अमित कन्हैया ने कहा कि देश मे अगर छात्र ही ना बचेगा तो ‘बेहतर भारत’ का निर्माण कैसे होगा इसलिए अविलंब JEE-NEET समेत सभी परीक्षा को केन्द्र और राज्य सरकार स्थगित करे क्योंकि देश भर के विधायक, सांसद, मंत्री, मुख्यमंत्री अपने घर में सुरक्षित अपने रहने का अधिकार है तो विद्यार्थियो को भी अपने घर मे सुरक्षित रहने का अधिकार है।

एनएसयूआई छात्र संगठन सरकार के द्वारा विद्यार्थियो के कुर्बानी पर कोरोना के अनलाॅक का प्रयोग का विरोध मरते दम तक करेगी हस्ताक्षर अभियान अभियान मे एमएलटी काॅलेज छात्र संघ महासचिव अक्षय आनंद, सहरसा जिला एनएसयूआई के उपाध्यक्ष हिमांशु झा, ईश्वर कात्यायन, आर्यण सिंह, नीतीश कुमार, सत्यम मिश्रा, स्वेता सिंह, जुही कुमारी, हेमन्त चौधरी, भीम यादव, केशव यादव, आलोक यादव, धनश्याम झा, शैलेन्द्र पासवान, शिव शक्ति यादव आदि मौजूद थे।

हेमंत चौधरी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -