ग्रामीणों ने डीलर पर लगाया, गरीबों का हकमार कर कालाबाजारी करने का आरोप

0
260
- Advertisement -

सहरसा जिले के सोनबरसा प्रखंड के सरौनी मधेपुरा पंचायत के गौआरी गांव के डीलर की मनमानी की शिकायत ग्रामीणों द्वारा की गई थी। जिसपर अनुमंडल कार्यालय, सदर सहरसा के आदेश अनुसार सुधीर कांत पाठक जन वितरण प्रणाली विक्रेता के ऊपर ग्रामीणों द्वारा लगाए गए आरोप को सत्य पाया गया। जिसपर विभाग द्वारा कार्रवाई करते हुए गांव के लोगों के मांग को देखते हुए अनाज उठाव का आदेश अगमा गांव के जन वितरण प्रणाली दुकानदार राधाकांत पासवान को दे दिया।

- Advertisement -

लेकिन उक्त डीलर का दुकान लाभार्थी के घर से 5 किलोमीटर की दूरी पर होने के कारण एवं लॉकडाउन के वजह से सरकार द्वारा जारी निर्देश के वजह से घर एवं गाँव से बाहर नहीं निकलने के कारण खाद्यान्न नहीं मिल रहा है।जिसके कारण कोरोना महामारी के कारण बेसहारा हो चुके ग्रामीणों को काफी परेशानी होती है। जबकि इस समस्या के समाधान को लेकर ग्रामीणों ने स्थानीय स्तर उचित सुविधा उपलब्ध कराने के लिए विभाग से मांग की थी।

लेकिन इस विषम परिस्थितियों में भी अभी तक विभाग द्वारा कोई समाधान नहीं किया जाना, विभाग की लापरवाही को दर्शाता है। स्थानीय पर खाद्यान्न वितरण करने को लेकर डीलर राधाकांत पासवान से कहा गया।लेकिन उनका कहना है कि जो मेरे घर पर आएगा उसको अनाज मिलेगा। हम किसी के गांव जाकर नहीं बाटेंगे। इस बात को लेकर अब लोग खुलकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर समस्या के निदान हेतू वरीय पदाधिकारी को भी व्हाट्सएप के जरिए आवेदन एवं दूरभाष पर बात किया गया। लेकिन आवेदन दिए हुए कई दिन बीत जाने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं किया जा सका है। भूखे पेट गरीब करेंगे तो क्या करेंगे। एक तरफ सरकार के द्वारा सभी लाभुक को अलग से 5 किलो अनाज दिया जाना है। लेकिन यहां तो फरवरी माह का भी राशन नहीं मिला।

एक तरफ कोरोना वायरस को लेकर दहशत में जी रहे हैं।दूसरी तरफ भूखे पेट सो रहे हैं। जगन पासवान, त्रिपुल देवी, गुड़िया देवी ,रीना देवी, रंजू देवी, भूमेश सादा, खुशबू कुमारी, रामकुमार सादा, सोनिया देवी, दुलो देवी, नीतीश कुमार, आशा देवी, दिलीप कुमार, नंदन कुमार, चंदन कुमार, चांदनी कुमारी, रीता देवी, आनंदी ऋषिदेव, पिंकू कुमार झा, संतोष मिश्रा, पतंग देवी, रुकमणी देवी, अर्चना कुमारी, बबीता देवी, रीना देवी, पिंकी देवी, सिद्धि देवी, रोशन देवी, सरिता देवी, रेखा देवी, मुक्ति झा, विनीता देवी ,रूबी देवी, अनमोल झा, उमा देवी, कन्हैया झा, प्रभाष चंद्र झा, चंदन झा, संतोष कुमार, गोपी कुमार झा, रत्नेश्वर झा, लाखो देवी, पप्पू झा, विनोद कुमार झा सहित कई अन्य लोगों ने बताया कि यथाशीघ्र समाधान नहीं हुआ तो मजबूरन लॉकडाउन में सड़क पर आना होगा।

रितेश : हन्नी (द्वारा प्रीतम कुमार)
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -