जदयू विधायक का वैश्य समाज के खिलाफ अमर्यादित बयान का विरोध

0
226
- Advertisement -

सहरसा : वैश्य समाज के खिलाफ सार्वजनिक रूप से तथाकथित अमर्यादित एवं अपशब्द भाषा का प्रयोग करने वाले जदयू विधायक गोपाल मंडल के विरोध मे शनिवार को वैश्य समाज सहरसा द्वारा शहर के शंकर चौक पर पुतला दहन कर विरोध-प्रदर्शन किया गया।

वैश्य समाज सहरसा के जिलाध्यक्ष मोहन प्रसाद साह के नेतृत्व मे आयोजित पूतला दहन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि “बनिया बैताल सब” हमारे सामने टिकेगा जैसा शब्द का प्रयोग करने वाले जदयू के विधायक गोपाल मंडल को, जो एक खास जाति-वर्ग को निशाना बना कर जिस प्रकार जातिसूचक बातें कर रहे हैं। जनता के सेवक के बोल ऐसे होते हैं क्या ? “लाठी”, “गोली”, “बंदूक” केवल इसी प्रकार के शब्दों का प्रयोग किया जा रहा है।

- Advertisement -

आगे कहा गया कि तथाकथित न्याय के साथ विकास का सच देखिये कैसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विधायक एक खास वर्ग को बेइज्जत करने का कार्य कर रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अविलंब इस विधायक को दण्डित करना चाहिए। जदयू के इस विधायक को मानसिक इलाज करवाने की जरूरत है।

व्यापार संघ के अध्यक्ष विकास गुप्ता, उपाध्यक्ष बजरंग गुप्ता, व्यवसायी नरेश जयसवाल ने कहा कि इस जाहिल विधायक गोपाल मंडल को समझाना होगा कि आज के दौर में किसी जाति विशेष पर अभद्र टिप्पणी करना या फिर किसी खास जाति विशेष के लोगों को अपने से कमजोर समझना एक प्रकार की मानसिक बिमारी के सिवाय और कुछ नहीं है।

वैश्य समाज सहरसा के जिला प्रवक्ता राजीव रंजन साह ने कहा कि “बनिया बैताल सब” हमारे सामने टिकेगा की बात कहने और गोली ठोकने की सार्वजनिक रूप से धमकी देने वाले जदयू विधायक गोपाल मंडल के इस अलोकतांत्रिक भाषा से जदयू रसातल में पहुंच जाएगी। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह एवं सूबे के मुखिया नीतीश कुमार को संज्ञान लेनी चाहिए। विधायक गोपाल मंडल के बयान से लगता है कि वे मानसिक रूप से विक्षिप्त हो गए हैं और यही वजह है कि अपनी हैसियत भूल कर अनाप-शनाप बोल रहे हैं। अगर जदयू समय रहते अपने इस गैर जिम्मेदार विधायक पर लगाम नहीं लगाती है तो इसका खामियाजा नीतीश कुमार और जदयू को भविष्य में भुगतना पड़ सकता है।

पुतला दहन कार्यक्रम में उपाध्यक्ष कृष्णमोहन चौधरी, श्यामनंदन पोद्दार, महासचिव शशिभूषण गांधी, राजकुमार गुप्ता, नाई संघ के अध्यक्ष बिजेंद्र ठाकुर, मनोज चौधरी, उदाहरण भगत, जयप्रकाश गुप्ता, मनोज साह, लालबहादुर साह, कुश मोदी, शाक्ति गुप्ता, अमित आनंद, अरूण जयसवाल, रूपेश कुमार, शंकर साह, दीपक गुप्ता, मुन्ना भगत, संतोष साह, कैलाश साह, राकेश कुमार, पिन्टू साह, रंजीत चौधरी, कुदंन कुमार , गौतम दास, मिथिलेश ठाकुर, पवन ठाकुर, शिवशंकर ठाकुर, मनोज मिलन, झूनकू गुप्ता, सुभाष गांधी, विजय गुप्ता, कामेश साह, रंजीत बबलू, अजय पोद्दार, आकाश गुप्ता, जवाहर भगत, राजीव साह, पंकज गुप्ता, अरिवंद लुसो, चंद्र कुमार, युगल साह निरंजन गुप्ता आदि शामिल थे।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -