निजीकरण के खिलाफ अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन के आह्वान पर धरना-प्रदर्शन

0
87
- Advertisement -

सहरसा : अखिल भारतीय ट्रेड यूनियनों के राष्ट्रव्यापी आह्वान पर सहरसा रेलवे स्टेशन पर सीटू, एटक, ऐक्टू के नेतृत्व में सरकार के जनविरोधी नीति एवं सरकारी उपक्रमों के निजीकरण के विरुद्ध धरना दिया गया। सीटू नेता मो0 समीम, एटक के नेता प्रभु लाल दास, ऐक्टू नेता प्रमोद साह के अध्यक्षता में चले धरना को संबोधित करते ट्रेंड यूनियनों के नेता ने केन्द्र की मोदी सरकार की जमकर आलोचना करते देश की सरकारी उपक्रमों को बेचने का आरोप लगाया।

वक्ताओं ने कहा कि केन्द्र की सरकार राष्ट्रवाद के नाम एक एक कर राष्ट्रीय साम्पति को बेच रही है। रेल, सेल, भेल, बैंक, बीमा और BSNL जैसी सरकारी उपक्रमों को कौड़ी के भाव बेचकर देश को कोपोरेट घरानों के हाथ सौंप रही है। पूरा देश त्राहिमाम है, किसान, मजदूर, मेहनतकस, छात्र, युवा परेशान है, सरकार को इनकी कोई चिन्ता नहीं है। सरकार सिर्फ और सिर्फ बड़े-बड़े धनासेठों को, पूँजीपतियों, कम्पनियों, कोपोरेट घरानों के हाथ देश की सम्पति को बेचकर राष्ट्रवाद का गलत प्रचार प्रसार कर रहीं हैं। मोदी का राष्ट्रवाद राष्ट्रीय साम्पति को बेचना मात्र रह गया है।

- Advertisement -

वक्ताओं ने कहा कि कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में आमजन तंग व तबाह है और सरकार पीएम केयर फंड के उपयोग को छुपा रही है। भारत सरकार देश में रोजगार पैदा करने के बदले रोजगार में कार्यरत कर्मियों की छटनी कर रही है। मेहनतकश जनता सड़क पर संघर्ष कर रही है और सरकार देश बेच रही है। इससे शर्म की बात और क्या हो सकती है? कोरोना महामारी एवं बिहार विधान सभा चुनाव के बाद आन्दोलन को और तेज किया जाएगा।

धरना को सीटू नेता रणधीर कुमार, ऐक्टू ने नेता चंदन कुमार, कुंदन कुमार, रामाकान्त राय, मो0 कुंदन कुमार तौहीद, रमेश यादव, मो0 नसीम मिस्री, मनोज शर्मा, मो0 असलम, दुखी शर्मा, कृष्णदयाल यादव, राजेंद्र प्रसाद महतो, जनवादी नौजवान सभा के नेता कुलानन्द यादव, एटक नेता बिजय यादव, उमेश पौदार, उमेश चौधरी, ऐक्टू नेता विजेन्द्र यादव छोटेलाल पासवान, चंदन कुमार मिथिलेश यादव, विक्की राम आदि ने संबोधित किया।

हेमंत चौधरी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -