पोल पर लगी स्ट्रीट लाईट बनी शोभा की वस्तु, अंधेरे में डूबा रहता है पूरा शहर

0
240
- Advertisement -

सहरसा : जहाँ नगर परिषद क्षेत्र के सभी 40 वार्डों में एलईडी लाइट बिजली पोल पर लगनी थी। लेकिन बीते एक साल के दौरान नाम मात्र एलईडी व स्ट्रीट लाइट ही लग पाई। ऐसे में कुहासे से भरे मौसम में अंधेरे में डूबे शहर के विभिन्न वार्डों में चोरी, छिनतई जैसी घटना घट रही है।

वहीं नगर परिषद सहित जिला प्रशासन भी बिजली पोल पर स्ट्रीट व एलईडी लाइट लगवाने में असमर्थ होती दिख रही है। तस्वीरों के माध्यम से आप देख सकते हैं कि शहर के वीर कुँवर सिंह चौक से मतस्यगंधा मन्दिर जाने वाली सड़क के किनारे लगे स्ट्रीट लाईट का अभाव है। जिस कारण गुजरने वाले राहगीरों को परेशानी होती है, क्योंकि पोल में लगी स्ट्रीट लाईट शोभा की वस्तु बनी हुई है।

- Advertisement -

वर्तमान स्थिति के बारे में पुछे जाने पर नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी प्रभात रंजन ने जानकारी देते हुए बताया कि भारत सरकार के उपक्रम ईईएक्सएल के द्वारा शहर के सभी वार्डों को रोशन करने की प्रक्रिया होनी थी। उन्होंने बताया कि बिजली पोल पर लगे लगभग 40 से ज्यादे स्ट्रीट लाइट चोरी हो चुकी है, जिसको लेकर विभागीय बैठक में कई बार सवाल उठ चुके हैं।

श्री रंजन ने बताया कि नगर परिषद के स्तर से कई दफे विभाग को स्ट्रीट लाइट व एलईडी लाइट नहीं लगने की सूचना दी जा चुकी है। साथ ही निजी तौर पर भी कार्य एजेंसी को कई बार सूचना दी गई है। अब कार्य एजेंसी द्वारा जानकारी दी जा रही है कि सरकार द्वारा एलईडी लाइट की उपलब्धता नहीं हो पा रही है। जिसके कारण लाइट लगने में विलंब हो रही है। वहीं उन्होंने आश्वासन देते हुए कहा कि जल्द ही इस समस्या का निदान होगा और पुनः शहर में स्ट्रीट लाइट लगने की प्रक्रिया शुरू होगी।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -