सहरसा पुलिस को बड़ी सफलता, लूट व छिनतई की घटना में सक्रिय कोढ़ा गैंग के छः सदस्य चार लाख रुपये व चोरी की चार बाईक के साथ गिरफ्तार

0
1238
- Advertisement -

सहरसा , सुपौल, मधेपुरा और खगड़िया जिलों में सक्रिय लूट एवं छिनतई की घटनाओं को अंजाम देने वाले कोढ़ा गैंग के 6 सदस्यों को सहरसा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी देते हुए बताया इन दिनों जिले में हुई छिनतई व लुट की घटनाओं को गंभीरता से लिया गया तथा इसके बाद काफी सतर्कता बरती गई। कई थानों की पुलिस को सादे लिबास में सहरसा जिला में सक्रिय किया गया।

सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संतोष कुमार के नेतृत्व में एक स्पेशल टीम का गठन किया गया था। वे खुद पूरी कार्रवाई की मॉनिटरिंग कर रही थीं। बैंकों के आसपास सादे लिबास में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी ताकि इस गैंग के सदस्यों को जल्द से जल्द दबोचा जा सके। इसी दौरान पुलिस अधीक्षक को सूचना मिली थी कि सदर थाना क्षेत्र के एसबीआई मुख्य शाखा के पास कुछ असामाजिक तत्व संदिग्ध तौर पर देखे जा रहे हैं।

- Advertisement -

इस सूचना के बाद सदर एसडीपीओ संतोष कुमार और सदर थानाध्यक्ष राजमणि को सक्रिय किया गया। उनके सहयोग में आसपास के थानों तथा टेक्निकल सेल और जिला आसूचना इकाई को भी सक्रिय किया गया था। एसबीआई मुख्य शाखा के पास संदिग्ध तौर पर घूम रहे विकास कुमार यादव और अमन कुमार यादव उर्फ चिंटू यादव से पूछताछ की गई। इनकी तलाशी ली गई तो इनके पास से गाड़ी को डिक्की को खोलने में इस्तेमाल आने वाली चाभी तथा गांजा बरामद हुआ।

अमन और विकास से पूछताछ में उन्होंने स्वीकार किया कि कटिहार जिला के कोढ़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत नया टोला जुराबगंज के रहने वाले हैं और सहरसा तथा आसपास के जिलों में लूट की घटनाओं को अंजाम देते हैं, सख्ती से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि सदर थाना क्षेत्र अंतर्गत हकपाडा रेलवे लाइन के पास एक किराए के मकान में यह लोग रहते हैं तथा छिनतई की घटनाओं को अंजाम देने के बाद वापस कटिहार निकल जाते हैं। गिरफ्त में आये विकास यादव और अमन यादव से पूछताछ के बाद दोनों ने अपने गैंग दूसरे सदस्यों के बारे में जानकारी दी।

गिरफ्तार किए के गए अमन यादव और विकास यादव की निशानदेही पर आदित्य कुमार यादव, रॉकी यादव, विशाल यादव और दीपक यादव को गिरफ्तार किया गया। वहीं पुलिस की कार्रवाई में 9 मोबाईल, बारह चाभी, दो नुकीला कीलनुमा टेकुआ, तीन फर्जी आधार कार्ड, एक फर्जी पासबुक, तीन बैग, चोरी की चार मोटरसाइकिल, डेढ़ किलो गांजा तथा चार लाख रूपया बरामद किया गया। वहीं पच्चीस हजार रूपए गैंग के सदस्यों के पास से बरामद किए गए जबकि पौने चार लाख रूपए इनकी निशानदेही पर कटिहार में हुई छापामारी के बाद कोढ़ा थाना क्षेत्र से बरामद किया गया।

जानकारी के लिए बताते चलें कि लूट एवं छिनतई की घटनाओं को अंजाम देने में कोढ़ा गैंग के सदस्यों को महारत हासिल है। वहीं गैंग के सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद लोगों में चर्चा है कि आने वाले दिनों में लूट एवं छिनतई की घटना पर विराम लगेगा।

 

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

 

- Advertisement -