पुण्यतिथि पर याद किये गए, सहरसा से ताल्लुक रखने वाले पुर्व मंत्री अब्दुल गफुर

0
131
- Advertisement -

सहरसा जिले के महिषी विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक सह बिहार सरकार के अल्पसंख्यक मंत्री रह चुके डॉo अब्दुल गफूर की प्रथम पुण्यतिथि समारोह का उद्धघाटन स्थानीय कला भवन में दीप प्रज्वलित कर किया गया।

वहीं बच्चों द्वारा स्वागतगान गाकर आगन्तुकों का स्वागत किया। मौके पर पुर्व विधायक सहित सर्वदलीय नेता व शहर के गणमान्य लोग मौजूद रहे। मौजूद नेताओं ने दीप प्रज्वलित करने के बाद पूर्व मंत्री स्वo अब्दुल गफ्फूर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर नमन किया।

- Advertisement -

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पूर्व विधायक अरुण यादव ने बिहार सरकार के पूर्व अल्पसंख्यक मंत्री के जीवनी पर प्रकाश डाला और श्रोताओं को विस्तार से बताया। अरुण यादव ने कहा कि जनाब अब्दुल गफूर की भरपाई निकट भविष्य में संभव नहीं है। वहीं रंजीत यादव ने कहा कि अब्दुल गफूर जन-जन के नेता थे। पुर्व विधायक किशोर कुमार मुन्ना ने कहा अब्दुल गफूर साहब व्यक्तित्व के धनी नेता थे जो हमेशा समाज के निचले तबके के लोगों के लिए सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष किये।

लोजद नेता व अब्दुल गफूर के पुत्र अब्दुल रज्जाक ने कहा कि मैं अपने पिताजी के पद चिन्हों पर चलने की भरपूर कोशिश करूंगा। धनिकलाल मुखिया ने कहा कि अब्दुल गफूर हम लोगों के भाई जैसे थे, हमलोगों ने अभिवावक खो दिया। मौजूद सभी वक्ताओं ने बारी-बारी से स्व० मंत्री के व्यक्तित्व के बारे में विस्तार से बताया।

पूर्व विधायक सह मंत्री डॉ० अब्दुल गफूर के पहली पुण्यतिथि सहरसा शहर के बाईपास शिवपुरी स्थित राजद कार्यालय में राजद नेता डॉ० गौतम कृष्ण के नेतृत्व में उनके छाया चित्र पर पुष्प अर्पित कर पुण्यतिथि मनाई गई। मौके पर पूर्व बीडीओ सह RJD नेता गौतम कृष्ण ने कहा कि आज डॉ० अब्दुल गफूर जी की प्रथम पुण्यतिथि है। अब्दुल गफूर जी एक समाजवादी नेता और राजद परिवार के एक मजबूत स्तम्भ थे। जिनका अ-समय निधन होना राजद परिवार के लिए अपूर्णीय क्षति है। हमलोग उनके समाजवादी विचारधारा को आगे बढ़ाने का संकल्प लेते हैं। वहीं मौके पर सभी लोगों ने अब्दुल गफूर के विचारधारा को याद करते हुए उनके द्वारा बताए मार्गो पर चलने का संकल्प लिया।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -