राशन और सब्जी दुकानदारों द्वारा किया जा रहा मानवता को शर्मसार, प्रशासन करे कारवाई।

0
299
- Advertisement -

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

जिला प्रशासन को ध्यान देना चाहिए कि एक तरफ जहाँ पूरा संसार कोरोना महामारी से जूझ रहा है। वहीं दूसरी ओर कुछ दुकानदारों के बल्ले- बल्ले है। जी हाँ, हम बात कर रहे हैं सहरसा जिले के जिला मुख्यालय स्थित राशन दुकानों और सब्जियों के दामों में काफी बढ़ोतरी की।

- Advertisement -

कल तक 10-12 रूपए प्रति किलो बिकने वाला आलू आज 25-30 रूपए प्रति किलो बिक रहा है। इसी तरह प्याज, नमक, दाल सहित हरी सब्जियों के दामों में डेढ़ से दो गुना अनावश्यक रूप से वृद्धि कर मनमानी किया जाने लगा है। ग्राहकों द्वारा मोल जोल करने पर राशन, किराना दुकान (जेनरल स्टोर) वाले ऐसे आंखें दिखाते हैं जैसे वो किराना समान उनसे खैरात में मांग रहें हों।

गौरतलब है कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगा और 23 को बाजार में उफान जहां एक तरफ मजदूर लोग रोजमर्रा की जिंदगी जीते थे। लॉक डाउन की वजह से अब उनकी मजदूरी बंद हो गयी। वहीं दुसरी ओर दुकानदारों कि मनगढ़ंत मनमानी महंगाई बढ़ती जा रही है। जिला प्रशासन इस मुद्दा को गम्भीरता से ले ओर ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करे।

- Advertisement -