आजादी के 74 साल बाद भी महज़ एक सड़क के लिए बाट जोह रहा सोनवरसा राज का परोकिया गाँव

0
90
- Advertisement -

सहरसा : यूँ तो विकास को लेकर तमाम तरह के दावे नेताओं, पार्टी और सरकार के द्वारा आये दिन किये जाते हैं लेकिन आजादी के 74 साल बाद भी सहरसा जिले के सोनवरसा राज अंतर्गत बिराटपुर पंचायत के परोकिया गाँव महज़ एक सड़क के लिए बेबस है। 4 से 5 गाँव के लोगों का उस सड़क से आना-जाना है उसके बाबजूद आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि यह सड़क नहीं झील है।

आये दिन औसतन 4 से 5 गाड़ी कीचड़ में जरूर ही फस जाता है या पलट जाता हैं। ऐसा लगता है कि गाँव के लोगों को होने वाली समस्याओं पर जनप्रतिनिधि का कोई ध्यान नहीं है। कोशी की आस से बातचीत में ग्रामीणों ने कहा कि विगत कई वर्षों से यहां की स्थिति नारकीय बनी हुई है एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि चाहे वह विधायक के रुप में हो या फिर प्रशासनिक अधिकारी के रूप में, हर कोई लापरवाह बना हुआ है और दुर्घटना में लोगों धकेल दे रहा है।

- Advertisement -

आगे बताया गया कि जानबूझकर इन सड़क के निर्माण को अटका दिया गया है और जनता को होने वाली समस्या को टाल दिया गया है। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी जब तक लोगों की जान नहीं लेंगे, तब तक वह कुछ करने वाले नहीं है।

वहीं उक्त समस्या को लेकर जब ग्रामीणों ने स्थानीय जनप्रतिनिधि और विधायक को अवगत कराया तो उन्होंने आश्वासन दिया कि बहुत जल्द इन्हें ठीक करा लिया जाएगा। लेकिन आज दिनांक तक कुछ नहीं हो सका है।

स्थानीय जनप्रतिनिधि और विधायक के प्रति ग्रामीणों ने गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि अगर इसका निराकरण नहीं खोजा गया तो कुछ दिन के बाद स्थानीय सैकड़ों युवकों के साथ आमरण अनशन पर बैठेंगे। ग्रामीणों ने स्पष्ट रूप से स्थानीय प्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि समय रहते इसे दुरुस्त करें, किसी के मौत का इंतजार ना करें। साथ ही साथ स्थानीय प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि इस विषय को लेकर जितने भी संबंधित अधिकारी जनप्रतिनिधि हैं उनसे मिलें ताकि इस समस्या का समाधान यथाशीघ्र खोजा जा सके।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -