सहरसा : चमकी बुखार से मरने वाले को बच्चों की आत्मा की शांति के कैंडिल मार्च

0
352
- Advertisement -

जन अधिकार छात्र परिषद के छात्र नेता पुनपुन यादव के नेतृत्व में सिमरी बख़्तियारपुर रेलवे स्टेशन से रानीबाग तक कैंडिल मार्च निकाल कर बच्चों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया गया। छात्र नेता पुनपुन यादव ने कहा कि पाँच साल पहले भी यह घोषणा हुई थी कि मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार की समस्याओं से निपटने के लिए एक रिसर्च सेंटर की स्थापना की जायेगी, लेकिन आज तक यह संभव नहीं हो पाया है। अब 125 से अधिक बच्चों की मौत के बाद एक बार फिर से कहा जा रहा है कि अगले साल तक रिसर्च सेंटर बन जायेगा।

- Advertisement -

उन्होंने कहा कि बिहार में बिना रिसर्च खोले ही करोड़ रुपिया का घोटाला हो जाता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस बीमारी के वास्तविक कारणों का पता अभी तक नहीं चल पाया है। कोई कहता है कि यह बीमारी लीची खाने से फैल रही है, तो कोई कहता है कुपोषण के कारण। सरकार वादा करके भूल जाती है और जब फिर से सैकड़ो बच्चों की मौत होती है तो वही वादा एकबार फिर दोहरा देती है। पुनपुन यादव ने कहा कि चमकी बुखार से निपटने के लिए सरकार द्वारा अभी तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है, क्योंकि 125 बच्चों की मौत के बाद भी मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों को श्रद्धांजलि सभा में प्रखंड अध्यक्ष सहदेव चौधरी, नगर अध्यक्ष प्रणव आनंद, रवि कुमार, अमन,संदीप गुप्ता, नीतीश यादव, अंश राज, सुभाष यादव, गोलू कुमार, आमोद कुमार यादव, हीरालाल यादव, मुस्कान राज, मो० कैफ, पम्पल अंसारी, प्रिंस रॉयल, विदेशी पासवान आदि जाप कार्यकर्ता उपस्थित थे।

- Advertisement -