विभिन्न मांगों को लेकर मत्स्यगंधा मंदिर के पुजारी और स्थानीय दुकानदार अनिश्चितकालीन धरना पर

0
167
- Advertisement -

सहरसा मुख्यालय के मत्स्यगन्धा स्थित रक्तकाली चौंसठ योगिनी मंदिर के पुजारी और स्थानीय दुकानदार अपनी विभिन्न मांगों को लेकर 15 मार्च से ही अनिश्चित कालीन आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं। स्थानीय स्टेडियम के पास बिछावन और मच्छरदानी लगाकर अनशनकारी डटे हुए हैं।

दरअसल मंदिर के पुजारी और स्थानीय दुकानदारों का आरोप है कि मंदिर के नाम पर दान में मिली एक जमीन को मंदिर कमिटी के सदस्य द्वारा निजी हांथों में बेच दिया गया है। पुजारियों का यह भी कहना है कि दान की हुई जमीन में 10 धुर जमीन पुजारियों को बसने के लिए दी गई थी जिसे भी बेच दिया गया। साथ ही अनशन पर बैठे लोगों ने मंदिर के एक सदस्य पर बार – बार धमकाने का भी आरोप लगाया है।

- Advertisement -

अनशनकारियों की माने तो मंदिर में आने वाले चढ़ावे को कमिटी के सदस्य अपने साथ लेकर चले जाते हैं। अनशनकारियों ने जिलाधिकारी से मांग कि है कि इस कमिटी को भंग करके नई कमिटी का गठन हो और मंदिर को मिले दान की जमीन को बेचने सहित अन्य चीजों की गहराई से जांच की जाय जबतक हमलोगों की मांग पूरी नही होगी वो अनशन पर डटे रहेंगे।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -