सहरसा : उपचुनाव में विकासशील इंसान पार्टी की जीत तय – राजीव मिश्र।

0
338
- Advertisement -

रितेश : हन्नी
कोसी की आस@सहरसा

पूरे बिहार में राजनीतिक जातीय समीकरण बदलने के मिल रहे संकेत

- Advertisement -

सहरसा – विकासशील इंसान पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री राजीव मिश्र ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि सिमरीबख्तियारपुर विधानसभा उपचुनाव में विकासशील इंसान पार्टी की जीत तय है। उन्होंने कहा कि सतारूढ़ गठबंधन इस उपचुनाव में टूट चुका है। मजबूत महागठबंधन के सामने जदयू की हार तय है। बिहार में कमजोर हो रही जदयू पर सिमरीबख्तियार में हमारी जीत इस बात की तस्दीक करेगी।

उन्होंने आगे बताया कि क्षेत्र दौरा में उन्होंने देखा कि उनकी पार्टी को सिमरीबख्तियारपुर उपचुनाव में हर तबके, हर जाति, हर सम्प्रदाय का अपार समर्थन मिल रहा है। ऐसे में वीआईपी की जीत को रोक पाना अब जदयू के लिए असंभव है। नीतीश सरकार का जाना तय है और इसकी शुरूआत सिमरीबख्तियारपुर से होगी। पूरे सूबे की बात कौन करे, जलजमाव के कारण पटना की जो दुर्दशा पिछले दिनों हुई है वो बिहार सरकार की पोल खोलने के लिए काफी है। कुल मिलाकर नीतीश सरकार का तिलिस्म टूट चुका है और जनता विकल्प के लिए लालायित है।

वीआईपी आज की तारीख में बिहार के लोगों के लिए उम्मीद की नई किरण है। हमारे पार्टी के प्रमुख और युवा नेता मुकेश सहनी की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है। पूरे बिहार में राजनीतिक जातीय समीकरण बदलने के संकेत मिल रहें हैं। महागठबंधन में शामिल सभी पार्टियों ने बिहार के लोगों में एक बार फिर से उम्मीद जगायी है। गैर जातीय आधार पर गठित वीआईपी केवल विकास के मुद्दे को सामने रखकर लोगों के बीच अलख जगा रही है। सिमरीबख्तियारपुर में दिनेश निषाद को मिल रहा अपार समर्थन इस बात का प्रमाण है कि हमारी पार्टी की पकड़ पूरे राज्य में मजबूत होती जा रही है। जदयू के खेमे में उपजी बौखलाहट इस बात का प्रमाण है कि हमारी संभावित जीत से वे परेशान हैं।

श्री राजीव मिश्र ने स्थानीय प्रशासन से भी आग्रह किया कि बिना किसी भेदभाव के और बिना भय के लोगों को वोट के लिए प्रेरित करे और गैर पक्षपातपूर्ण तरीकों से चुनाव से लेकर चुनाव परिणाम की घोषणा तक कानून व्यवस्था का पालन करें। उन्होंने कहा कि वो स्थानीय प्रशासन के सम्पर्क में हैं और जब भी पार्टी समर्थकों को उनकी जरूरत पड़े तो निःसंदेह उनको याद कर सकते हैं। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह प्रवक्ता राजीव मिश्र ने एक प्रश्न के जबाब ने कहा कि राजनीति में आना उनकी कोई मजबूरी नहीं है। पत्रकारिता में आज भी उनकी गहरी पैठ और सक्रियता बनी हुई है, मगर राजनीति के प्लेटफार्म से जनसेवा का जो मौका मिल सकता है, उसके लिए राजनीतिक पार्टी में आना जरूरी था। उनके पास इसके लिए कई विकल्प थे लेकिन चुनौती स्वीकार करना मेरी आदत है। श्री मिश्र को यह भी कहने से कोई गुरेज नहीं कि मुकेश सहनी और उनकी पार्टी बिहार के लिए बेहतरीन विकल्प के रूप में उभरी है। बिहार की जनता पुरानी राजनीतिक पार्टियों से उगता गई है। सिर्फ सत्ता में आना उन पार्टियों का लक्ष्य है। जनसेवा के नाम पर वो क्या कर सकते हैं। प्रेस कान्फ्रेंस के इस मौके पर उन्होंने मीडिया से जुड़े सभी बन्धुओं का धन्यवाद ज्ञापित किया और उम्मीद जताई कि चुनाव के दिन भी निष्पक्ष कवरेज देकर मीडिया अपनी महती भूमिका निभाएगी।

- Advertisement -