सहरसा : वर्चस्व की लड़ाई में हुई गोलीबारी मामले में पुलिस की छापेमारी में राइफल व गोली किया बरामद, मौके से बदमाश फरार।

0
195
- Advertisement -

जिले के सलखुआ थाना क्षेत्र अंतर्गत माठा गांव में शुक्रवार सुबह दो गुटों में आपसी वर्चस्व को लेकर गोलीबारी हुई। जिसमें कॉपी खरीदने दुकान जा रही सुरेंद्र यादव की बेटी और पोती 12 वर्षीय प्रियंका और 4 वर्षीय सुरुचि को गोली लगी। जिसे बेहतर इलाज के लिए सलखुआ पीएचसी से सहरसा सदर अस्पताल रेफर किया। गोलीबारी की घटना में दोनों घायल का इलाज सदर अस्पताल चल रहा है। गोलीबारी की घटना के बाद हरकत में आई पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए छापेमारी कर एक थ्री फिफ्टीन राइफल सहित 17 जिंदा कारतूस एक बिंडोलिया बरामद किया है हालांकि बदमाश मौके से भागने में सफल रहा।

जख्मी दोनों बच्ची को अस्पताल ले जाते परिजन

- Advertisement -

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मृदुला कुमारी ने सलखुआ थाना में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि आज सुबह दो पक्षों के बीच गोलीबारी की घटना घटित हुई उक्त घटना के बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए बख्तियारपुर पुलिस सर्किल इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार के नेतृत्व में सलखुआ थानाध्यक्ष रहमान अंसारी व पुलिस बलों के साथ माठा गांव में छापेमारी की गई। जिसमें सबसे पहले मो० गफ्फार के यहां छापेमारी की गई तो घर में बिछावन के नीचे से दो जिंदा कारतूस बरामद किया गया।


इसी क्रम में जानकारी मिली है कि मो० गफ्फार माठा बहियार में झोपड़ी में छुपा हुआ है। डीएसपी मृदुला कुमारी ने बताया कि जब बहियार में छापेमारी की गई तो पुलिस को देखते ही वहां मौजूद सभी बदमाश भागने में सफल रहा है। वहीं छापेमारी के दौरान झोपड़ी से एक 3.15 बोर की राईफल एवं 15 जिंदा कारतूस बरमद किया गया। घटना की जानकारी देते हुए डीएसपी ने बताया कि मो० गफ्फार व रणवीर यादव के बीच वर्षों से विवाद चल रहा है। गुरुवार को रणवीर का चाचा दिलीप यादव गांव आया हुआ था उसी को मारने की नियत से गोलीबारी की घटना हुई। उन्होंने बताया कि जख्मी बच्ची के परिजनों के बयान पर मामला दर्ज किया गया है वहीं हथियार बरामद मामले में थानाध्यक्ष के बयान पर केस दर्ज की गई है। आगे अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मृदुला कुमारी ने बताया कि छापेमारी के क्रम उत्कृष्ट कार्य के लिए एएसआई नरेंद्र कुमार सिंह व पुलिस बल राकेश कुमार मिश्रा को सम्मानित किया जाएगा इन दोनों ने छापेमारी में बहादुरी का परिचय दिया है।

रितेश : हन्नी
कोशी की आस@सहरसा

- Advertisement -