शिक्षा मंत्री के यूटर्न से शिक्षकों में गहराया आक्रोश – मनीष

0
129
- Advertisement -

बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति खगड़िया के सभी संघो के जिलाध्यक्ष ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर आपात समीक्षा की। शिक्षा मंत्री के बयान के बाद शिक्षकों में आक्रोश और बढ़ी। अध्यक्ष मंडल के मनोज कुमार, मनीष कुमार सिंह, डॉक्टर नंदन कुमार, सौरभ कुमार सिंह ने कहा ऐसे शिक्षा मंत्री व सरकार को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए सभी जिले के शिक्षक तैयार रहें।

सरकार द्वारा वाट्सएप और सोशल मीडिया पर हड़ताल तोड़ने के लिए जो साजिश की जा रही है। उसकी समस्त शिक्षक समाज निंदा करती है। तथा समस्त शिक्षक समाज से अपील करती है कि इस जाल में फसना नही है। कोरोना महामारी के लिए लॉक डाउन का समक्ष आपदा का समय है। सार्वजनिक अवकाश का समय है, यह हड़ताल में गिनती नही होगी। इसमें हम हड़ताली शिक्षकों को किसी प्रकार से विचलित होने की आवश्यकता नहीं है।

- Advertisement -

घटक दल के सभी अध्यक्ष ने कहा हड़ताल 56 दिनों से चल रहा है। लेकिन लॉक डाउन, रविवार, अवकाश के कारण हड़ताल का कुल दिवस 20 से 22 दिन हुआ है। भयभीत होने की कोई आवश्यकता नहीं है। अध्यक्ष संजय कुमार, हरिमोहन कुमार ने कहा सरकार द्वारा हड़ताल को कमज़ोर करने के लिए वाट्सएप, सोशल मीडिया के माध्यम से दिग्भ्रमित किया जा रहा है। इस झांसे में नहीं आना है। उन्होंने कहा कि हमलोगों को वेतन तीन माह /छह माह में सरकार देती है। इसलिए इस नियोजन रूपी कलंक को हटाने के लिए यह हड़ताल अंतिम अवसर है। इसलिए हड़ताल में डटे रहना है। सभी अध्यक्षों ने यह संकल्प लिया नियोजनवाद हटेगी या सरकार हटेगी।

अनिश चौरसिया
कोशी की आस@खगड़िया

- Advertisement -