बसंतपुर सुपौल के कई गांव आज भी सड़कों के लिए बदहाली का रोना रो रहे हैं

0
536
- Advertisement -

सोनू आलम/बलुआ बाजार/सुपौल

 

- Advertisement -

बसंतपुर प्रखंड के कई ऐसे गांव है जो आज भी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। जहां आज भी हल्की बारिश से ही घुटनो भर पानी और कीचड़ भरी सड़क पर आवागमन करने के लिए विवश है। मामला बिशनपुर शिवराम पंचायत के तुल्सीपट्टी वार्ड 13 का है। करीब तीन हजार आबादी वाला प्रभावित साह व दास टोला के सैकड़ों ग्रामीण अपना दर्द जनप्रतिनिधि को सुनाते तो हैं लेकिन यहाँ का हाल देखकर लग रहा है कि जनप्रतिनिधि या अधिकारी इनके दर्द को सुनना मुनासिब नहीं समझते। इसी को लेकर गुरुवार को सैकड़ो ग्रामीण अपने परिवार और छोटे-छोटे बच्चे के साथ कीचड़ और पानी भरी सड़क पर उतरकर जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने कहा इस बार सड़क नही तो वोट नही। वही सड़क की समस्या को लेकर आँगनवारी केंद्र संख्या 132 की सेविका पूजा कुमारी ने बताया कि इसी सड़क के बगल में मेरा आगनवाड़ी केन्द्र है। लेकिन बारिश में सड़क की दुर्दशा इतनी खराब हो जाती है कि आँगनबारी केंद्र में पढ़ने वाले छोटे छोटे नौनिहाल को आगनवाड़ी केंद्र आना दुर्लभ हो जाता है। जिस कारण नौनिहालों को केंद्र के सेविका व सहायिका को अपने गोद में उठाकर केंद्र लाना होता है।अधिकांश बच्चे तो कीचड़ व पानी के वजह से केंद्र भी नही पहुँच पाते। कहा कि कई वर्षों से इस सड़क की  स्थिति खराब है लेकिन सड़क निर्माण की दिशा में जनप्रतिनिधियों व विभाग के द्वारा इस दिशा में अब कोई ठोस पहल नही की गई है।

 

वही अपना दर्द बयां करते हुए ग्रामीण कमलेश साह, रामचंद्र दास ,प्रकाश दास, सुबोद दास,फूलचंद दास,नरेश दास,मनोरमा देवी ललिता देवी सुलोचना देवी,अनुराधा देवी,बुचिया देवी,दुर्गा देवी आदि ने बताया कि बारिश के मौसम में इस सड़क से होकर घुटनो भर कीचड़ व गंदे पानी के वजह से लोगो का गुजरना दूभर हो जाता है। गंदे पानी और कीचड़ ज्यादा दिन तक जमा होने के वजह से यहाँ जानलेवा बीमारी फैलने का खतरा भी रहता है। जबकि गर्भवती महिलाओं को अस्पताल ले जाने में भी भारी समस्या का सामना करना पड़ता है। कीचड़ के कारण एम्बुलैंस चालक पीड़िता के घर तज भी पहुँचने मैं असमर्थता जताते है।ग्रामीणों ने कहा कि अगर यहां के जनप्रतिनिधियों या विभाग के द्वारा जल्द ही इस सड़क की समस्या का समाधान नही किया गया तो हमलोग इससे भी उग्र होकर आंदोलन करने को बाध्य होंगे। इस बाबत सड़क की समस्या को लेकर मुखिया प्रतिनिधि सुधीरकान्त झा ने बताया की सड़क की मंजूरी हो चुकी है। सात निश्चय योजनाओं के तहत जल्द ही सड़क का निर्माण शुरू करा दिया जाएगा। वही पूछने पर इस संदर्भ में प्रखंड विकाश पदाधिकारी देवानंद कुमार सिंह ने बताया कि सात निश्चय योजना के तहत ऐसे ही गलियों का निर्माण होना है।उन्होंने बताया की हम मुखिया जी से जानकारी लिए है। इसमें प्रखण्ड की ओर से कोई दिक्कत नही है। इसमें सरासर वहाँ के वार्ड सदस्य संजय दास का लापरवाही है। उन्हें कार्यालय बुलाकर सवाल जवाब किया जाएगा। लापरवाही बरतने पर उचित कार्यवाही भी की जाएगी।

 

- Advertisement -