बीते तीन दिनों के अंदर दो किशोरियों की संदेहास्पद मौत और पुलिसिया कारवाई का आभाव

0
44
- Advertisement -

सोनू आलम
कोशी की आस@सुपौल

जिले के छातापुर थाना क्षेत्र के उधमपुर में बीते तीन दिनों के अंदर दो किशोरियों की संदेहास्पद अवस्था में हुई मौत ने कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिये हैं। मामला तब और गंभीर हो जाता है जब घटना की जानकारी के बावजूद पुलिस कार्रवाई से परहेज करती है और साक्ष्य छुपाने की नियत से संबंधित आनन फानन में शवों का अंतिम संस्कार कर मानवता को कलंकित किया जाता है।

- Advertisement -

पहली घटना भागवतपुर पासवान टोला में गुरूवार को एक किशोरी की संदेहास्पद अवस्था में मौत हो जाने की है, मौत के बाद उसके परिजन साक्ष्य छुपाने की नियत से शव को जलाने की तैयारी में जूटे हुए थे, लेकिन सूचना के बावजूद पुलिस आवेेेदन के इंतज़ार में थाने पर बैठी रही, जानकारी अनुसार रामदेव पासवान की 16 वर्षिया पुत्री रूबी कुमारी (काल्पनिक नाम) को उसके भाईयों ने मोबाइल पर किसी से बात करते देख लिया, जिसके बाद दोनों सगे भाई संजय पासवान व मंजय पासवान ने मिलकर अपने बहन को घर में बंदकर बेरहमी से उसकी पिटाई कर दी, जिसके बाद संदेहास्पद अवस्था में उसकी मौत हो गई।

हालांकि गंभीर हालत में स्थानीय लोग किसी निजी क्लीनिक में उपचार के लिए ले गए लेकिन तबतक काफी देर हो चूकी थी, मृतका के पिता मजदूरी के लिए बाहरी प्रदेश में हैं। बताया जाता है कि किशोरी की मौत के बाद समाज के तथाकथित ठेकेदारों के बल पर पुलिस की सहमति प्राप्त कर शव को जलाने की तैयारी चल रही थी।

दूसरी घटना बीते सोमवार की रात उधमपुर पंचायत वार्ड संख्या आठ में हुई, यहाँ भी प्रेम प्रसंग को लेकर 17 वर्षीया कमला कुमारी (काल्पनिक नाम) को मौत की नींद सुला दिया गया, जिसके बाद साक्ष्य छुपाने की नियत से मंगलवार को सूर्योदय से पूर्व ही उसके शव को घर से महज सौ मीटर की दूरी पर जला दिया गया। इस मामले में भी समाज के तथाकथित ठेकेदारों ने पुलिस की सहमति प्राप्त कर इस कृत्य को अंजाम दिया।

- Advertisement -