छातापुर प्रखंड क्षेत्र में जनवितरण प्रणाली विक्रेता की मनमानी

0
618
- Advertisement -

सुपौल : बलुआ बाजार, सोनू आलम

 

- Advertisement -

छातापुर प्रखंड क्षेत्र में रविवार को ठूठी पंचायत के जनवितरण प्रणाली विक्रेता के मनमानी रवैये से परेशान ग्रामीणों ने विरोध जताया है। इस दौरान ग्रामीणों ने जनवितरण प्रणाली विक्रेता रीता देवी के पति दिनेश साह पर पिछले कुछ माह से कार्डधारियों के बीच राशन वितरण नहीं करने का आरोप लगाया है। मामला चैनपुर वार्ड-3 से जुड़ा हुआ है। वार्ड के कुछ कार्डधारियों के बीच जनवरी माह से तो कुछ को बीते तीन माह से अभी तक राशन का वितरण नहीं किया गया है।

उक्त बाबत रविवार को सैकड़ों ग्रामीण कार्ड लेकर डीलर के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान विरोध कर रहे सावित्री देवी, चांदनी देवी, अंजनी देवी, दुखिया देवी, अलका देवी, बुचिया देवी, सुनीता देवी, पूनम देवी, सीता देवी, मो आलम आदि ने बताया कि डीलर के द्वारा लाभुकों को पिछले जनवरी माह से ही राशन नहीं दिया जा रहा है। विरोध करने पर डीलर के द्वारा राशन नहीं देने का धमकी दिया जा रहा है। बताया कि कुछ लाभुकों को जनवरी से ही राशन नहीं मिला है, ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि जिसको राशन दिया भी गया है, उसे वजन में काम तौल कर दिया है। यहाँ तक कि कार्ड जमाकर अपने मन से कार्ड को भर दिया जाता है। बोलने पर बोला जाता है कि इतना ही मिलेगा। वार्ड के ही अंजली देवी ने बताया कि लाभुकों को एक महीना देकर कार्ड बांकी महीना को भी भर दिया जाता है। जिसको लेकर विभाग को भी सूचित किया गया था लेकिन विभाग की ओर से भी कोई पहल नहीं हो पाया। वहीं अंत्योदय कार्डधारी कमलेश्वर सादा ने कहा कि मेरा कार्ड पहले से जमा करने के बावजूद भी अभी तक राशन नहीं मिला है।

आगे उन्होंने बताया कि हमलोगों का वार्ड को साजिश के तहत काटकर लगभग 6 किलोमीटर दूरी पर स्थित वार्ड-7 के जनवितरण विक्रेता से जोड़ दिया गया है जिससे वार्ड के लाभुकों को आने जाने में काफी परेशानी हो रही है। लेकिन इतनी दूरी तय कर जाने के बाद भी कार्डधारियों को राशन देने से मना कर देने से परेशानी होती है। वहीं पूर्व वार्ड सदस्य दिलीप पासवान ने बताया कि इससे पहले डीलर गणेश राम के साथ टैग था जिसको हटाकर वार्ड साथ मे टैग कर दिया गया, जिसके कारण डीलर मनमानी करने पर उतारू है। कहने के बावजूद भी लाभुकों को समय पर राशन नहीं मिल पाता है। इधर, जनवितरण प्रणाली विक्रेता रीता देवी के पति दिनेश साह का कहना है कि यूनिट कम रहने के कारण मैनेज करना पड़ता है। राशन नहीं मिलने के बारे में उन्होंने कहा कि वार्ड में कुछ कार्डधारियों को लाभ नहीं मिला है। बांकी लाभुकों को ससमय राशन दिया जाता है। वहीं इस संदर्भ में छातापुर एमओ अमर कुमार शर्मा ने बताया कि मामले को लेकर अभी तक लाभुकों के द्वार लिखित आवेदन नहीं मिला है। आवेदन मिलने पर कार्रवाई किया जाएगा।

- Advertisement -