जलवायु परिवर्तन पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

0
35
- Advertisement -

एन के सुशील
कोशी की आस@सुपौल

सांसद दिलेश्वर कामत के द्वारा बी0एस0एस0 काॅलेज, सुपौल के सभागार में पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, बिहार के तत्वाधान में वन प्रमंडल सुपौल द्वारा आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया। यह कार्यक्रम सामाजिक एवं आर्थिक विकास के लिए बाँस के पौधे का प्रवर्धन, प्रबंधन एवं मूल्य वर्धन पर संकेन्द्रित है। इस अवसर पर RAIN FOREST RESEARCH INSTITUTE, JORHAT ASSAM द्वारा बाँसो से निर्मित उत्पादों की स्टाॅल लगाकर प्रदर्शनी की गई।

- Advertisement -

प्रदर्शनी-सह-बिक्री केन्द्र के लिए एक स्थानीय स्टाॅल भी अतिरिक्त रूप से लगाया गया, जहाँ स्थानीय कामगार अपना उत्पाद रख कर बिक्री कर सकेगें। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अभय कुमार, क्षेत्रिय मुख्य वनसंरक्षक भागलपुर तथा मुख्य अतिथि के रूप में प्रो0 डाॅ0 अवध किशोर राय, माननीय कुलपति बी0एन0मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा द्वारा अभिभाषण की गई तथा बाँस की उपयोगिता तथा बांस उत्पादन में बेहतरी हेतु किये जाने वाले प्रयासों के बारे में बताया।

विदित हो कि दिनांक 26.02.2020 एवं 27.02.2020 को प्रत्येक विषय अनुसार 50-50 किसानों (स्थानीय) को शामिल किया जाना है ताकि उच्च एवं बेहतर तकनीक से स्थानीय किसानों एवं कामगारों को लाभ मिल सके एवं उनकी आमदनी बढ़ सके। बाँस संबंधित उन्नत तकनीक पर भी बात बताई जाएगी, जिसमें ज्यादा-से ज्यादा मुनाफा किसानों को मिल सके।

- Advertisement -