सुपौल : नवप्रशिक्षित शिक्षकों ने भ्रष्ट डी पी ओ (स्थापना) प्रेम रंजन का फूंका पूतला।

0
80
- Advertisement -

जिले के नवप्रशिक्षित शिक्षकों को समस्थानिक इनडेक्स के आधार पर निर्गत पत्र को रद्द करने, वेतन निर्धारण और अंतर वेतन में घूस लेने, डी पी इ एरियर का भुगतान नहीं करने, 14 माह से लंबित टी इ टी शिक्षकों के लंबित वेतन का भुगतान नहीं करने सहित अन्य समस्याओं को लेकर सैकड़ों शिक्षकों ने बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ, प्रखण्ड इकाई छातापुर के बैनर तले प्रखण्ड अध्यक्ष सुनील कुमार के नेतृत्व में डी पी ओ (स्थापना) प्रेम रंजन का पुतला फूंक कर गुस्से का किया इजहार।

जिला उपाध्यक्ष प्रेम पाठक ने कहा कि जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) शेष बचे नवप्रशिक्षित शिक्षकों को शोषण की मंशा से समस्थानिक इनडेक्स के आधार पर वेतन निर्धारण करने पर अनावश्यक अड़ंगा लगा रहे हैं, जबकि इसी जिला में जिन शिक्षकों ने घूस दिया है, उनका समस्थानिक इनडेक्स के आधार पर वेतन निर्धारण किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि जो शिक्षक ऐरियर भुगतान में घूस देते है, उनका भुगतान कर दिया जाता है, जो नहीं देते है, उनका भुगतान नहीं किया जाता है।

- Advertisement -

टी इ टी/एस टी इ टी संघ के प्रदेश प्रतिनिधि बजरंग पाठक ने कहा कि छातापुर के 30 शिक्षकों का सेवा पुस्तिका वेतन निर्धारण हेतु जिला में एक माह से रखा हुआ है। लेकिन डी पी ओ (स्थापना) अवैध वसूली के चलते फिक्सेसन नही कर रहे है। हर कार्य के लिए घूस की मांग की जाती है। प्रखण्ड संरक्षक रईस आलम ने कहा हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी डी पी इ एरियर का भुगतान नही किया जा रहा है। शिक्षकों ने कहा कि डी पी ओ (स्थापना) के कार्यशैली ने पुरे जिला की शिक्षा व्यवस्था को तबाह करके रख दिया है। जबतक सभी समस्याओं का समाधान नही हो जाता है, आन्दोलन जारी रहेगा। जिला उपाध्यक्ष महेश कुसयेत ने कहा कि डी पी ओ (स्थापना) पुरी तरह भ्रष्टाचार में संलिप्त है।

इस मौके पर प्रखण्ड संयोजक मो रुहल्लाह, बीरेन्द्र मंडल, सुधांशु चौधरी, राजकुमार कामैत, सरोज पासवान, अजय कुमार, रेखा कुमारी, बीना कुमारी, महबूब आलम, दिलीप सिंह, मंजूला कुमारी, चंदन कुमार साह, मेहनाज खातून, गीता कुमारी, अरबिंद पासवान, इशरत प्रवीण, हसिबुर रहमान,रंजना कुमारी, बिनोद कुमार यादव, सुभाष कुमार यादव, श्वेता आनंद, अरबिंद पासवान सहित सैकड़ों शिक्षक/शिक्षकाएं मौजूद थे।

एन के सुशील
कोशी की आस@सुपौल।

- Advertisement -