सितंबर में भारी गर्मी से गर्मी-जनित रोगों की चपेट में आने से आम जनमानस परेशान

0
259
- Advertisement -

एन के शुशील

कोसी की आस@छातापुर,सुपौल।

- Advertisement -

भीषण गर्मी और धूप से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। भीषण गर्मी में सबसे अधिक परेशानी स्कूली बच्चों को स्कुल आने-जाने में हो रही है। सितंबर माह के इस चिलचिलाती धूप ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे अधिक विकट स्थिति बनी हुई है।

मजदूरों को काम करने में परेशानी हो रही है। उमस भरी गर्मी एवं लू के कारण लोग घर से नहीं निकल पा रहे हैं। सुबह के सात बजे से ही सूर्य की तेज तपिस होने के कारण लोग खुले स्थानों में बाग़ बगीचे के पास बैठकर और कई घरो में पंखो के पास रहकर राहत पाते दिखे। भीषण गर्मी से क्षेत्र के लोग गर्मी-जनित बीमारियों के चपेट में आने लगे है। पीएचसी में गर्मी-जनित रोग से ग्रसित मरीजो की संख्या बढ़ने लगी है। इधर, गर्मी के कारण मच्छरों की जनसंख्या में भी काफी वृद्धि हो गयी है। बढ़ी गर्मी को लेकर बाजारों में सन्नाटा दिख रहा है। जबकि सड़कों पर लोगों की आवाजाही भी बहूत कम ही दिखी।

- Advertisement -