सुपौल : आंदोलन के दौरान गिरफ्तार शिक्षकों की बिना शर्त अविलंब रिहाई हेतु सभा।

0
319
- Advertisement -

सोनू आलम

जिले के छातापुर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत मध्य विद्यालय लक्ष्मीनियाँ परिसर में गिरफ्तार शिक्षकों की अविलंब रिहाई को लेकर गुरुवार की शाम बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले एक बैठक आयोजित की गई, जिसकी अगुआई बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक संघ के उपाध्यक्ष प्रेम पाठक ने किया।

- Advertisement -

इस दौरान बैठक में पिछले सप्ताह सरकार के द्वारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज, फर्जी मुकदमा और गिरफ्तार शिक्षकों को अविलंब रिहा करने के मुद्दों पर विचार किया गया, सभा
में बलुआ और लक्ष्मीनियाँ संकुल के सभी शिक्षकों ने भाग लिया। इस दौरान शिक्षक संघ के उपाध्यक्ष प्रेम पाठक ने कहा कि 18 जुलाई को पटना में ऐतिहासिक विधानसभा घेराव के दौरान बिहार सरकार के आदेश पर शिक्षकों के उपर अमानवीय व्यवहार लाठी चार्ज, वाटर केनन, आंशु गैस, पथराव एवं साजिश के तहत प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल, प्रदेश सचिव बिपिन बिहारी भारती, छपरा के शिक्षक समरेन्द्र बहादुर, शिक्षिका बहन चांदनी झा एवं पश्चिम चंपारण के शिक्षक अब्दुल हसीब को झुठा मुकदमे में गलत धाराओं के तहत बेऊर जेल भेजे जाने की कड़ी शब्दों में निंदा किया।

श्री पाठक ने सरकार से शिक्षक साथियों के अविलंब एवं बिना शर्त रिहाई और सारे मुकदमे वापसी की बिहार सरकार से मांग की। साथ ही आवश्यक माँगों के त्वरित निष्पादन की मांग करते हुए कहा कि नहीं माने जाने पर तालाबंदी जैसे कठोर निर्णय हेतु हमें बाध्य होना पड़ेगा, जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी सरकार की होगी। उन्होंने आगे कहा कि बिहार राज्य संघर्ष समन्वय समिति के राज्य इकाई पटना के द्वारा आगामी 27 जुलाई को जिला मुख्यालयों में प्रस्तावित प्रतिरोध मार्च निकाला जाएगा। इसके लिए सभी शिक्षकों को भारी संख्या में सहभागिता देने हेतु उपस्थित शिक्षकों से आह्वान किया, जिसका गर्मजोशी से सभी शिक्षकों ने एक स्वर में अपनी स्वीकृति दे दी। इस सभा में को-ऑर्डिनेटर रमेश प्रसाद सिंह, प्रधानाध्यापक संजीव झा, संजय कुमार मेहता, अविनाश झा, दीपक दिनकर, ध्रुव कुमार, संगीता झा, हामिद अंसारी, श्याम कुमार साह, बिक्रम राम, रंजीत दीपक कुमार झा, फौजिया , नीलम कुमारी, रूबी कुमारी, मृत्युंजय शर्मा, दीपेन्द्र कुमार, सुलेखा कुमारी, सुनीता कुमारी, शंकर कुमार, कुद्दिशिया खातुन , मंजुला शर्मा, फरजाना, शाहिदा,संगीता, रजनीकांत आदि शिक्षक-शिक्षिका उपस्थित थे।

- Advertisement -