सुपौल : हल्की बारिश में बदहाल होती जिंदगी

0
438
- Advertisement -
सोनू आलम / बलराम कुमार
यूँ तो समूचे देश में बारिश की कमी को लेकर विशेषज्ञ परेशान हैं लेकिन सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय क्षेत्र की स्थिति थोड़ी बारिश में ही नरकीय हो जाती है। क्षेत्र के  मुख्य बाजार में भी सड़क किनारे पानी जमा रहती है। वहीं बाजार से जाने वाली कई सड़कें जिसमें वारिस का पानी जमा रहता है।
NH 327 ई बाजार के मुख्य सड़क से जो मेलाग्राउंड की ओर सड़क निकलती है। उसी सड़क पर सड़क किनारे आए दिन पानी एवं कीचड़ रहता है। पानी के जमा रहने से कीटाणु भी पनपते हैं। बीमारियाँ पैदा होती है। मेलाग्राउंड में मवेशी हाट, सब्जी दुकान,अन्य कई तरह के दुकान हैं।साथ ही मेलाग्राउंड में स्थित अजगैबीनाथ काली मंदिर, दुर्गा मन्दिर, महादेव मंदिर भी है। प्रतिदिन हजारों की संख्या में सुबह से रात तक श्रद्धालुओं एवं आमजन का आना जाना लगा रहता है।बाजार ही नहीं गाँव में भी सड़क की यही हालत है। आप अंदाजा लगा सकते हैं कि जब  मुख्य बाजार की ये स्थिति है तो गाँव की सड़कों की स्थिति क्या होगी?
लोगों का कहना है कि सुशासन बाबू के राज में भाषण सुनने और सुनाने में ही अच्छे लगते हैं, लेकिन धरातल पर तो विकास के नाम पर तो कुछ और ही नजर आ रहे हैं।
- Advertisement -